Breaking News

शनिवार, 20 मार्च 2021

ओरल हाईजीन : मूंह के स्वास्थ्य का ध्यान रखना उतना ही ज़रूरी है जितना पूरे शरीर का : दन्त रोग विशेषज्ञ डॉ. मधुलिका

ओरल हाईजीन : मूंह के स्वास्थ्य का ध्यान रखना उतना ही ज़रूरी है जितना पूरे शरीर का : दन्त रोग विशेषज्ञ डॉ. मधुलिका

वर्ल्ड ओरल (मूंह के स्वास्थ्य) हाईजीन डे पर विशेष 


जालौन  20 मार्च 2021 : मूंह के स्वास्थ्य जिसे हम ओरल हाईजीन भी कहते हैं इसका ध्यान रखना उतना ही ज़रूरी है जितना पूरे शरीर का रखा जाता है| स्वास्थ्य दन्त और मसूड़े व्यक्तित्व को और बेहतर बनाने में भी मदद करता है|

अक्सर हम दांतों की साफ़ सफाई पर ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं और ऐसे ही अक्सर हमे दांतों में दर्द, मूंह से बदबू आना, कीड़ा लगना आदि समस्या होती है|

राजकीय मेडीकल कॉलेज में दन्त रोग विशेषज्ञ डॉ मधुलिका  बताती हैं कि दिन में दो बार ब्रश करना ही ओरल हाईजीन नहीं कहलाती है| इसके साथ ही रात को मीठा खाने से बचना चाहिए, ज्यादा मीठा खाने से दांतों में कीड़ा लगने की संभावना रहती है|  अगर मीठा खा भी रहे हैं तो उसके बाद कुल्ला या अच्छे तरह से ब्रश करले| अक्सर मीठा खाने के बाद बैक्टीरिया पनपने की संभावना होती है| और ऐसी स्थिति में मूहं में दुर्गन्ध और कीड़ा लगने की सम्भावना अधिक होती है|

 

साथ ही मूहं की सुरक्षा के लिए चाय और कॉफ़ी को सीमित मात्रा में लेना चाहिए, इन पेय पदार्थों में कैफीन की मात्रा अधिक होती है| साथ ही अधिक धूम्रपान और शराब के अधिक सेवन से बचना चाहिए| इनके सेवन से दांतों की चमक जाती है और साथ ही मसूड़ों से सम्बंधित बीमारी होने की सम्भावना होती है|


डॉ. मधुलिका ने बताया कि मूहं के अच्छे स्वास्थ्य के लिए 3 माह में ब्रश को बदलना चाहिए, ज्यादा दिन तक पुराना टूथ ब्रश इस्तेमाल करने से बक्टेरिया पनपने की संभावना रहती है| साथ ही पुराने टूथ ब्रश को इस्तेमाल करने से मसूड़ों को नुकसान पहुचंने की संभावना होती है|

  
क्यों जरूरी होता है सोने से पहले ब्रश करना 

रात में सोते समय मूहं में लार कम बनती है और करीब 8 घंटे मुहं बंद रहता है| इस वजह से खाना दांतों के बीच फंसा रह जाता है, और धीरे धीरे सड़ने लगता है| और इस तरह बक्टेरिया मूहं में पनपने लगते हैं| इस लिए रात में सोने से पहले दांत साफ़ करना बहुत ही ज़रूरी है|


वर्ल्ड ओरल हाईजीन डे 20 मार्च को मनाया जाता है| इसकी शुरुआत 2013 से में वर्ल्ड डेंटल फेडरेशन द्वारा हुई थी, इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों में दन्त स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता लाना है|

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Pages

close