Breaking News

Thursday, April 22, 2021

यूपी: प्रत्येक कोविड-19 अस्पताल (सरकारी एवं निजी) में एक नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाए: मुख्यमंत्री योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जनपद लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी तथा कानपुर नगर में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जनपद लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी तथा कानपुर नगर में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा   

  • कोविड बेड की संख्या को बढ़ाने की कार्यवाही को निरन्तर जारी रखने के निर्देश   
  • सम्बन्धित जनपदों के अधिकारी अपने प्रभारी मंत्री से मार्गदर्शन प्राप्त करते हुए कोरोना नियंत्रण के लिए हर स्तर पर किए जा रहे प्रयासों को और बेहतर करें   
  • प्रत्येक कोविड अस्पताल (सरकारी एवं निजी) में एक नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाए   
  • ऑक्सीजन या किसी जीवन रक्षक औषधि के नाम पर जनता का मनोबल गिराने वाला कार्य नहीं किया जाना चाहिए: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  
  • ऑक्सीजन, जीवन रक्षक दवाओं की कालाबाजारी करने वालों के विरुद्ध कठोरतम कानूनी कार्यवाही की जाए   
  • जनपदों में मेडिकल काॅलेज तथा निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लाण्ट की स्थापना की कार्यवाही की समीक्षा प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा तथा प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री द्वारा की जाए   
  • इण्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कण्ट्रोल सेण्टर को प्रभावी ढंग से संचालित किया जाए   
  • कोविड अस्पतालों में बेड की उपलब्धता की अद्यतन जानकारी के साथ-साथ बेड आवंटन की कार्यवाही पारदर्शी प्रक्रिया से की जाए   
  • कण्टेन्मेण्ट जोन के प्राविधानों को इन जनपदों में प्रभावी ढंग से लागू किया जाए   
  • सरकारी एवं अधिकृत निजी प्रयोगशालाओं में अधिक से अधिक संख्या में आर0टी0पी0सी0आर0 टेस्ट किए जाएं   
  • प्रवासी कामगारों और श्रमिकों की क्वारण्टीन सेण्टर में स्क्रीनिंग, टेस्टिंग की व्यवस्था के साथ ही स्वच्छता आदि के समुचित प्रबन्ध सुनिश्चित हों   
  • कोरोना कफ्र्यू तथा वीकेण्ड पर की जाने वाली साप्ताहिक बन्दी को प्रभावी ढंग से लागू करने के निर्देश, इस दौरान चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाओं के साथ-साथ आवश्यक सामग्री की आपूर्ति प्रभावित न होने पाए   
  • वर्तमान चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में कोविड उपचार से जुड़े संस्थान, स्थानीय प्रशासन से संवाद बनाकर कार्य करें 

लखनऊ: 21 अप्रैल, 2021 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने जनपद लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी तथा कानपुर नगर में कोविड बेड की संख्या को बढ़ाने की कार्यवाही को निरन्तर जारी रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि आॅक्सीजन, रेमडेसिविर सहित सभी जीवन रक्षक दवाओं की सुचारु आपूर्ति के प्रयास प्रभावी ढंग से जारी रखे जाएं। 

उन्होंने कोविड प्रबन्धन की कार्यवाही को हर स्तर पर बेहतर किए जाने पर बल दिया है। 

मुख्यमंत्री जी आज वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जनपद लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी तथा कानपुर नगर में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। समीक्षा में इन जनपदों के प्रभारी मंत्रियों के साथ-साथ मण्डलायुक्त, जिलाधिकारी, पुलिस अधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, चिकित्सा संस्थानों व मेडिकल काॅलेजों के प्रमुख एवं शासन के वरिष्ठ अधिकारीगण सम्मिलित हुए। उन्होंने कहा कि सम्बन्धित जनपदों के अधिकारी अपने प्रभारी मंत्री से मार्गदर्शन प्राप्त करते हुए कोरोना नियंत्रण के लिए हर स्तर पर किए जा रहे प्रयासों को और बेहतर करें। 

उन्होंने निर्देशित किया कि प्रत्येक कोविड अस्पताल (सरकारी एवं निजी) में एक नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाए। मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिए कि ऑक्सीजन, रेमडेसिविर या अन्य जीवन रक्षक दवाओं की कालाबाजारी करने वाले तत्वों के खिलाफ व्यापक छापेमारी की कार्यवाही करते हुए, इनके विरुद्ध कठोरतम कानूनी कार्यवाही की जाए। उन्होंने कहा कि इन जनपदों में मेडिकल काॅलेज तथा निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लाण्ट की स्थापना की कार्यवाही की समीक्षा प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा तथा प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री द्वारा की जाए। इण्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कण्ट्रोल सेण्टर को प्रभावी ढंग से संचालित किया जाए। यहां कोविड अस्पतालों में बेड की उपलब्धता की अद्यतन जानकारी के साथ-साथ बेड आवंटन की कार्यवाही पारदर्शी प्रक्रिया से की जाए।   

मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ जी ने निर्देशित किया कि पुलिस द्वारा कण्टेन्मेण्ट जोन के प्राविधानों को इन जनपदों में प्रभावी ढंग से लागू किया जाए। 

इस कार्य में सिविल डिफेंस, एन0सी0सी0 और एन0एस0एफ0 का सहयोग भी लिया जाए। लोगों को कोरोना से बचाव के बारे में जागरूक किया जाए। सोशल डिस्टेंसिंग अपनाने और मास्क का अनिवार्य उपयोग करने की जानकारी देने के लिए पब्लिक एड्रेस सिस्टम का व्यापक स्तर पर उपयोग किया जाए। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोरोना संक्रमण की चेन को रोकने में कण्टेन्मेण्ट जोन, मास्क के अनिवार्य उपयोग तथा प्रभावी सर्विलांस सिस्टम की महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने प्रत्येक ग्राम और वाॅर्ड में निगरानी समितियों को सक्रिय रखने के निर्देश दिए। 

उन्होंने कहा कि शत-प्रतिशत काॅन्टैक्ट टेªसिंग की जाए। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोरोना टेस्टिंग का कार्य पूरी क्षमता से संचालित किया जाए। सभी सरकारी एवं अधिकृत निजी प्रयोगशालाओं में अधिक से अधिक संख्या में आर0टी0पी0सी0आर0 टेस्ट किए जाएं। उन्होंने कहा कि क्वारण्टीन सेण्टर को प्रभावी ढंग से क्रियाशील रखें। प्रवासी कामगारों और श्रमिकों की क्वारण्टीन सेण्टर में स्क्रीनिंग तथा आवश्यकतानुसार टेस्टिंग की व्यवस्था की जाए। क्वारण्टीन सेण्टर में ठहरने व भोजन के साथ-साथ स्वच्छता आदि के समुचित प्रबन्ध सुनिश्चित किए जाएं। मुख्यमंत्री जी ने कोरोना कफ्र्यू तथा वीकेण्ड पर की जाने वाली साप्ताहिक बन्दी को प्रभावी ढंग से लागू करने के निर्देश दिए। 

उन्होंने कहा कि इस दौरान चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाओं के साथ-साथ आवश्यक सामग्री की आपूर्ति प्रभावित न होने पाए। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि एम्बुलेंस सेवा का संचालन बेहतर किया गया है। यह सुनिश्चित किया जाए कि एम्बुलेंस सेवाएं सुचारु ढंग से कार्यशील रहें। उन्होंने कहा कि वर्तमान चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में कोविड उपचार से जुड़े संस्थान, स्थानीय प्रशासन से संवाद बनाकर कार्य करें। आॅक्सीजन या किसी जीवन रक्षक औषधि के नाम पर जनता का मनोबल गिराने वाला कार्य नहीं किया जाना चाहिए। 

मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ जी ने एस0जी0पी0जी0आई0, के0जी0एम0यू0 तथा आर0एम0एल0आई0एस0 से अपेक्षा की कि प्रदेश में वर्चुअल आई0सी0यू0 के प्रशिक्षण संचालन कार्य को आगे बढ़ाएं। वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग में उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य, चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य मंत्री श्री जय प्रताप सिंह, जल शक्ति मंत्री डाॅ0 महेन्द्र सिंह वर्चुअल माध्यम से सम्मिलित हुए।

No comments:

Post a Comment

Pages