Breaking News

बुधवार, 24 मार्च 2021

विश्व क्षयरोग दिवस पर निकाली जागरूकता रैली

विश्व क्षयरोग दिवस पर निकाली जागरूकता रैली

विश्व क्षयरोग दिवस पर निकाली जागरूकता रैली

जालौन 24 मार्च 2021 : विश्व क्षय रोग दिवस के अवसर पर बुधवार को जिला अस्पताल से टीबी जागरुकता रैली निकाली गई। जो विभिन्नि मार्गों से होकर वापस टीबी अस्पताल में समाप्त हुई। इसके बाद जिला टीबी अस्पताल में बुधवार को गोष्ठी का आयोजन किया गया। इसमें मुख्य अतिथि मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. ऊषा सिंह ने कहा कि टीबी मुक्त भारत बनाने के लिए 2025 का लक्ष्य रखा गया है। इस लक्ष्य को सामूहिक प्रयास से प्राप्त किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि टीबी, कुष्ठ और कोरोना जैसे अभियान को लेकर स्वास्थ्य विभाग विशेष सतर्कता बरता रहा है। उन्होंने  आम जनमानस से भी इसमें सहयोग की अपील की।

जिला क्षय रोग अधिकारी डा. सुग्रीवबाबू ने विश्व क्षय रोग दिवस के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए टीबी रोग के जनक राबर्ट काक्स के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि अब टीबी को लेकर कई तरह की दवाइयां आ गई है। यदि व्यक्ति समय से इलाज और और पूरा इलाज कराए तो टीबी रोग से मुक्त होकर सामान्य जीवन जिया जा सकता है। टीबी का इलाज अधूरा छोड़ना खतरनाक है। 

जिले में है यहाँ टीबी जाँच की सुविधा 

जिले में टीबी से इलाज के लिए 19 माइक्रोस्कोपी सेंटर है, जहां टीबी मरीजों के बलगम की जांच की जा रही है। जिले में नदीगांव, कोंच, जालौन व माधौगढ़ में ट्रनेट मशीन से जांच की जा रही है। जिला मुख्यालय पर सीबीनाट मशीन से मरीजों की जांच कर उनका उपाय किया जा रहा है। 

डा. सुग्रीवबाबू  ने निक्षय पोषण योजना के बारे में भी बताया कि जो भी टीबी रोगी पंजीकृत होते है, उनके खाते में पोषण राशि के रुप में पांच सौ रुपये प्रति माह भेजे जाते हैं। वर्ष 2020 में पंजीकृत रोगियों को 31 लाख से ज्यादा की धनराशि उनके खाते में भेजी गई।

चिकित्साधिकारी डा. कौशल किशोर ने बताया कि 15 दिन तक लगातार खांसी, वजन कम होना, बुखार आना, भूख न लगना, सीने में दर्द आदि टीबी रोग के लक्षण हो सकते है। ऐसे में जांच कराकर इलाज सुनिश्चित कराए। डीपीसी नुरुल हुदा, आलोक मिश्रा, राजीव उपाध्याय, संजय अग्रवाल, शहनवाज आदि मौजूद रहे।

इस अवसर पर प्रतिसार निरीक्षक अवधेश कुमार सिंह की मौजूदगी में पुलिस लाइन में तैनात पुलिसकर्मियोें को क्षय रोग के बारे में जागरुक किया। डीटीओ डा. सुग्रीवबाबू ने कहा कि क्षय रोग किसी को भी हो सकता है, इसलिए इसे लेकर सतर्कता बरते जाने की जरूरत है। अगर किसी को टीबी होती है तो जांच कराकर इलाज सुनिश्चित कराएं।



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Pages

close