Breaking News

Thursday, 25 March 2021

जालौन: हार्ट सर्जरी के लिए पहली बार सरकारी एंबुलेंस से अलीगढ़ भेजे गए बच्चे

जालौन: हार्ट सर्जरी के लिए पहली बारसरकारी एंबुलेंस से अलीगढ़ भेजे गए बच्चे  आरबीएसके की टीम ने खोजे थे बच्चे, सभी का होगा निशुल्क उपचार

आरबीएसके की टीम ने खोजे थे बच्चे, सभी का होगा निशुल्क उपचार 

जालौन 25 मार्च 2021 : जन्मजात ह्दय संबंधी बीमारियों से जूझरहे छह बच्चों को उपचार एवं सर्जरी के लिए राजकीय मेडिकल कालेज अलीगढ़ भेजा गया है। इन बच्चों की वहां पर सर्जरी होगी और वे फिर से सामान्य जीवन जी सकेंगे। ऐसापहली बार हुआ है कि इन बच्चों को सरकारी एंबुलेंस से भिजवाया गया है। अभी तक विभागकी गाड़ी से इन्हें भेजा जाता था। 

डीईआईसी (जिला शीघ्रहस्तक्षेप केंद्र) के प्रबंधक रवींद्र सिंह चौधरी ने बताया कि राष्ट्रीय बालस्वास्थ्य कार्यक्रम (आरबीएसके) के माध्यम से कोंच के पिंडारी ब्लाक से गजराज (10 वर्ष), आर्यन (छह साल), राधिका (8 वर्ष), नमन (साढ़े चार साल), सुदीक्षा (15 साल) एवं नदीगांव ब्लाक से छोटू (सवा दो साल) को राजकीयमेडिकल कालेज अलीगढ़ भिजवाया गया है। जहां इनकी सर्जरी आदि की निशुल्क व्यवस्थाहोगी।राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्यकार्यक्रम के नोडल अधिकारी एवं एसीएमओ डा एसडी चौधरी का कहना है कि आरबीएसकेप्रोग्राम में ऐसे बच्चों का निशुल्क उपचार कराया जाता है, जो जन्मजात ह्दय संबंधी , कटे, फटे होंठ, मोतियाबिंद, टेढ़े मेढ़े पांव, रीढ़ की हड्डी संबंधी बीमारी का उपचार प्रदेश के उच्चस्तरीय संस्थानों में निशुल्क कराया जाता है। 

उन्होंने बताया कि इसके लिए जिले मेंआरबीएसके की टीमें लगी हुई है, जो प्रत्येक ब्लाक में जाकर आंगनबाड़ी केंद्र और सरकारीस्कूलों में जाकर जांच करती है और ऐसे बच्चों को चिह्नित कर उनके उपचार कीव्यवस्था करती हैं।प्रत्येक टीम में दो डाक्टर(एक पुरुष व एक महिला) और एक पैरामेडिकल कर्मचारी और एक स्टाफ नर्स शामिल होती है।प्रत्येक टीम को हर माह बच्चों की जांच और उनके इलाज की व्यवस्था कराने कीजिम्मेदारी दी जाती है।

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. बीएम खैर ने बताया कि अभी तक बच्चों को जिले से बाहर उपचार के लिए भेजने के लिएविभागीय वाहन की व्यवस्था की जाती थी, जिसकी वजह से कई बार रास्ते में समस्या आ जाती थी। इसे लेकरपहली बार उन्होंने इसके लिए एंबुलेंस के कोआर्डिनेटर दीपक कुमार से बात की औरबच्चों को इलाज के लिए सरकारी एंबुलेंस से अलीगढ़ भिजवाया गया। छह बच्चों को दोएंबुलेंस लेकर गई हैं। सरकारी एंबुलेंस की सुविधा मिलने पर बच्चों और उनकेअभिभावकों में खुशी देखी गई।

No comments:

Post a comment

Post Top Ad

Pages

close