Breaking News

मंगलवार, 17 नवंबर 2020

जालौन: सक्रिय टीबी रोगी खोज अभियान में मिले 66 नए मरीज

सक्रिय टीबी रोगी खोज अभियान में मिले 66 नए मरीज

जालौन 17 नवंबर 2020, सक्रिय टीबी रोगी खोज अभियान (एसीएफ) में 66 नए मरीज क्षय रोगी मिले हैं। सबसे ज्यादा दस टीबी रोगी जिला मुख्यालय पर मिले हैं तो जबकि कुठौंद और बाबई क्षेत्र में नौ नौ मरीज मिले हैं है। आठ आठ मरीज कोंच व कदौरा में मिले हैं। पांच पांच मरीज जालौन और नदीगांव के टीम ने खोजे हैं। जबकि छह मरीज माधौगढ़ में मिले हैं। इन 66 मरीजों में 55 का उपचार शुरू भी हो गया है।
जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ सुग्रीव बाबू ने बताया कि दो नवंबर से 11 नवंबर दस दस दिवसीय सक्रिय क्षय रोगी खोज अभियान चलाया गया था। इसके तहत जिला मुख्यालय उरई के अतिरिक्त कोंच, माधौगढ़, जालौन, कदौरा, नदीगांव, कुठौंद और महेबा (बाबई) क्षेत्र में 73 टीमें और 16 सुपरवाइजर लगाए गए थे। 1.81 लाख जनसंख्या में मरीजों की खोज की जानी थी, जिसमें टीमों ने इससे बढ़कर 1,84 लाख जनसंख्या में मरीजों की जांच की। इसमें लक्षण वाले 891 मरीजों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए। इसमें 66 नए क्षय रोगी मिले। उन्होंने बताया कि यह अब तक के सबसे ज्यादा मरीज है। जबकि पिछली बार 1.96 लाख लोगों का सर्वे किया गया था। इसमें 1038 सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे। इसमें 47 क्षय रोगी मिले थे।
उन्होंने बताया कि इस समय जिले में 1423 क्षय रोगियों का इलाज चल रहा है। साथ ही उनके खाते में निक्षय पोषण योजना के तहत इलाज के दौरान हर माह 500 सौ रुपये भेजे जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि सभी क्षय रोगियों की ट्रूनेट मशीन से कोरोना संबंधी जांच भी कराई गई लेकिन कोई भी मरीज पाजिटिव नहीं निकला है।
टीबी के लक्षण
डीटीओ ने बताया कि दो हफ्ते से अधिक समय तक खांसी आना, बुखार आना, सीने में दर्द होना, बलगम में खून आना, भूंख न लगना और वजन लगातार कम होना आदि  टीबी के प्रमुख लक्षण हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Pages