Breaking News

शुक्रवार, 9 अक्तूबर 2020

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन भारत सरकार के तत्वाधान में चल रहे मानसिक स्वास्थ्य सप्ताह के अंतर्गत आज जिला पुरुष चिकित्सालय में "दयालुता" थीम पर गोष्ठी का आयोजन

उरई जनपद जालौन उत्तर प्रदेश

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन भारत सरकार के तत्वाधान में चल रहे मानसिक स्वास्थ्य सप्ताह (5 से 11 अक्टूबर 2020) के अंतर्गत आज जिला पुरुष चिकित्सालय में "दयालुता "थीम पर गोष्ठी का आयोजन किया गया। 

इस अवसर पर स्वास्थ्य, शिक्षा, पुलिस आदि विभागों के वक्ताओं ने COVID-19 महामारी के समय उत्पन्न मनोविकारों के संबंध में अपने अनुभवों को साझा किया। जिसमें जिला चिकित्सालय के मनोचिकित्सक डाक्टर तारा शहजानंद ने विस्तार से जानकारी दी। इसके बाद शिक्षा विभाग के प्रतिनिधियों ने लाकडाउन के समय किए गए सामाजिक कार्योँ पर प्रकाश डाला। L1 कोविड-19 प्रभारी डॉ.संजीव प्रभाकर ने अपने अनुभवों को साझा करते हुए बताया कि कठिन परिस्थितियों में ड्यूटी पर तैनात कर्मचारियों तथा रोगियों के मनोबल को ऊंचा बनाये रखना सफ़लता की कुंजी है और अपने कर्त्तव्य निर्वहन के समय इस पर विशेष ध्यान दिया जाए।  इसी क्रम में डॉ.सत्य प्रकाश अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि हमें सावधानी से रहना चाहिए क्योंकि अभी COVID-19 बीमारी चल रही है और जब तक टीकाकरण नहीं होता खतरा बना रहेगा। इसके बाद डॉ.खेर अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी, डॉ.सक्सेना मुख्य चिकित्सा अधीक्षक तथा डॉ.प्रेम प्रताप सिंह जिला कार्यक्रम प्रबंधक ने अपने-अपने विचार व्यक्त किए। इसी क्रम में कार्यक्रम के अंत में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अल्पना बरतारिया ने  महामारी काल में उत्कृष्ट कार्य हेतु डॉ. सत्य प्रकाश, डॉ. संजीव प्रभाकर, श्री महेंद्र, श्री रामेंद्र आदि को स्मृति चिन्ह प्रदान कर सभी को धन्यवाद दिया । 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Pages