Breaking News

गुरुवार, 8 अक्तूबर 2020

मुख्यमंत्री योगी ने मोदी नगर, गाजियाबाद में प्रदेश के सबसे बड़े आयनॉक्स ऑक्सीजन प्लांट का वर्चुअल माध्यम से शुभारम्भ किया

मुख्यमंत्री योगी ने मोदी नगर, गाजियाबाद में प्रदेश के सबसे बड़े आयनॉक्स ऑक्सीजन प्लाण्ट का वर्चुअल माध्यम से शुभारम्भ किया

उ0प्र0 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मोदी नगर, गाजियाबाद में प्रदेश के सबसे बड़े आयनॉक्स ऑक्सीजन प्लाण्ट का वर्चुअल माध्यम से शुभारम्भ किया प्रधानमंत्री ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई के लिए एक जन आन्दोलन अभियान की शुरुआत की जन आन्दोलन अभियान से जनभागीदारी द्वारा व्यवहार परिवर्तन तथा हैण्ड वॉश, सोशल डिस्टेसिंग, मास्क के उपयोग के सम्बन्ध में जागरुकता बढ़ाने का कार्य सुनिश्चित होगा प्लाण्ट के आरम्भ होने से उ0प्र0, इण्डस्ट्रियल एवं मेडिकल ऑक्सीजन के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनेगा प्रदेश सरकार ने पिछले 03 वर्षों में निवेश का एक बेहतर माहौल तैयार किया, जिसका परिणाम है कि प्रदेश में काफी निवेशक आ रहे हैं ' ईज ऑफ डूइंग बिजनेस ' में उत्तर प्रदेश दूसरे स्थान पर निवेश से उ0प्र0 के विकास के साथ ही देश और दुनिया के सामने प्रदेश की एक बेहतर छवि सामने आयी है आयनॉक्स प्लाण्ट प्रदेश का सबसे बड़ा ऑक्सीजन प्लाण्ट प्लाण्ट की कुल क्षमता 150 टन प्रति दिन लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन (LMO) उत्पादित करने की आयनॉक्स ग्रुप मध्यांचल में भी ऑक्सीजन का एक प्लाण्ट लगाएगी |

लखनऊ : 08 अक्टूबर, 2020 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज यहां अपने सरकारी आवास पर मोदी नगर में प्रदेश के सबसे बड़े आयनॉक्स ऑक्सीजन प्लाण्ट का वर्चुअल माध्यम से शुभारम्भ किया । उल्लेखनीय है कि आज प्रधानमंत्री जी ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई के लिए एक जन आन्दोलन अभियान की शुरुआत की है । जिसके तहत कोरोना पर प्रभावी नियंत्रण के लिए जनभागीदारी द्वारा व्यवहार परिवर्तन तथा हैण्ड वॉश, सोशल डिस्टेसिंग, मास्क के उपयोग के सम्बन्ध में जागरुकता बढ़ाने का कार्य सुनिश्चित होगा । 

इससे लोगों को कोविड-19 के दृष्टिगत प्रोटोकॉल को अपने जीवन का हिस्सा बनाने में मदद मिलेगी । इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी ने आयनॉक्स ग्रुप के पदाधिकारियों से संवाद भी किया । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकार कोरोना नियन्त्रण हेतु लगातार प्रयासरत है । इन प्रयासों का परिणाम है कि कोरोना की दर में निरन्तर कम हुई है । उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी कोविड -19 के दौरान प्रदेश सहित पूरे देश में ऑक्सीजन की मांग बढ़ी है । क्योंकि कोविड मरीजों के लिए ऑक्सीजन की ज्यादा जरूरत होती है । उन्होंने कहा कि डिमाण्ड के अनुरूप सप्लाई प्रदेश सरकार के लिए एक चुनौती थी । प्लाण्ट के शुभारम्भ होने से इस चुनौती को पार पाने में सफलता मिलेगी । उन्होंने कहा कि इस प्लाण्ट के आरम्भ होने से उत्तर प्रदेश , इण्डस्ट्रियल एवं मेडिकल ऑक्सीजन के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनेगा । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि INOX Air Products द्वारा राज्य सरकार के साथ फरवरी , 2018 में इन्वेस्टर्स समिट के दौरान मोदी नगर , गाजियाबाद में Ultra-High Purity Cryogenic Oxygen Plant की स्थापना हेतु MOU किया गया था । उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने पिछले 03 वर्षों में निवेश का एक बेहतर माहौल तैयार किया है । जिसका परिणाम है कि प्रदेश में काफी निवेशक आ रहे हैं । ' ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में उत्तर प्रदेश दूसरे स्थान पर 1 निवेश संभावनाओं की दृष्टि से उत्तर प्रदेश देश में एक महत्वपूर्ण केन्द्र बन गया है । निवेश उत्तर प्रदेश के विकास व युवाओं के लिए एक माध्यम बना है । इसके साथ ही , देश और दुनिया के सामने प्रदेश की एक बेहतर छवि सामने आयी है । निवेशको की संतुष्टि ही वर्तमान सरकार की पूंजी है । मुख्यमंत्री जी ने खुशी जाहिर की कि आयनॉक्स ग्रुप आने वाले दिनों में मध्यांचल में भी ऑक्सीजन का एक प्लाण्ट लगाएगी । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के कुशल नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में राज्य सरकार कोविड-19 पर नियंत्रण के सक्रिय प्रयास कर रही है । 

इन प्रयासों से संक्रमण को नियंत्रित करने में सफलता मिली है । विगत कुछ दिनों में कोविड संक्रमण की दर में कमी भी आयी है । जब तक कोरोना की कोई वैक्सीन या उपचार नहीं आ जाता , तब तक इसके संक्रमण से बचाव ही एक मात्र उपाय है । मोदी नगर में नवस्थापित यह ऑक्सीजन प्लाण्ट वर्तमान में कोविड -19 संक्रमण के विरुद्ध संघर्ष में सहायक होगा । राज्य सरकार द्वारा कोविड संक्रमण के पिछले लगभग 6 महीनों के दौरान चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ किया गया है 1 ज्ञातव्य है कि इस प्लाण्ट की कुल क्षमता 150 टन प्रति दिन लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन ( LMO ) उत्पादित करने की है । यह प्रदेश का सबसे बड़ा ऑक्सीजन प्लाण्ट है । प्लाण्ट में 1000 मीट्रिक टन लिक्विड ऑक्सीजन भण्डारण करने की भी क्षमता है । प्लाण्ट द्वारा प्रदेश के करीब 200 सरकारी व निजी क्षेत्र के अस्पतालों को ऑक्सीजन सप्लाई की जाएगी । चिकित्सा क्षेत्र के अतिरिक्त ऑक्सीजन का प्रयोग अन्य उद्योगों जैसे - फार्मा एवं केमिकल , इलेक्ट्रॉनिक मैनुफैक्चरिंग आदि में भी किया जाएगा । इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश खन्ना , औद्योगिक विकास मंत्री श्री सतीश महाना , एम0एस0एम0ई0 मंत्री श्री सिद्धार्थनाथ सिंह , स्वास्थ्य मंत्री श्री जय प्रताप सिंह , स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री अतुल गर्ग , मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी , अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन , कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा , अपर मुख्य सचिव गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी , पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी , अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 एवं सूचना श्री नवनीत सहगल , अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा श्रीमती आराधना शुक्ला , प्रमुख सचिव पशुपालन श्री भुवनेश कुमार , प्रमुख सचिव नगर विकास श्री दीपक कुमार , प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना श्री संजय प्रसाद , प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री आलोक कुमार , सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार , राहत आयुक्त श्री संजय गोयल , सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे ।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Pages