Breaking News

शुक्रवार, 25 सितंबर 2020

मुख्यमंत्री योगी ने जनपद कानपुर नगर और लखनऊ में अतिरिक्त चिकित्सा कर्मियों की तैनाती करते हुए चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के निर्देश दिए

मुख्यमंत्री योगी ने जनपद कानपुर नगर और लखनऊ में अतिरिक्त चिकित्सा कर्मियों की तैनाती करते हुए चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के निर्देश दिए
मुख्यमंत्री योगी ने जनपद कानपुर नगर और लखनऊ में अतिरिक्त चिकित्सा कर्मियों की तैनाती करते हुए चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के निर्देश दिए

उ0प्र0 मुख्यमंत्री ने जनपद कानपुर नगर और लखनऊ में अतिरिक्त चिकित्सा कर्मियों की तैनाती करते हुए चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के निर्देश दिए आर0एम0एल0आई0एम0एस0 में उपलब्ध 300 बेड्स के भवन को डेडिकेटेड कोविड अस्पताल के रूप में संचालित किया जाए कोविड अस्पतालों में सभी औषधियों एवं अन्य मेडिकल सामग्री की सुचारु उपलब्धता बनाए रखने के निर्देश होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों से जनपद स्तर पर नियमित संवाद के साथ - साथ सी०एम० हेल्पलाइन के माध्यम से भी सम्पर्क स्थापित किया जाए कोविड-19 के संक्रमण की चेन को तोड़ने में कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग तथा मेडिकल टेस्टिंग की महत्वपूर्ण भूमिका , इसलिए इनसे जुड़ी कार्यवाही को पूरी तेजी से संचालित किया जाए कोविड-19 से बचाव और सुरक्षा के सम्बन्ध में जागरूकता का अभियान जारी रखा जाए पब्लिक एड्रेस सिस्टम के द्वारा लोगों को कोविङ-19 से सुरक्षा तथा यातायात नियमों की जानकारी दी जाए औद्योगिक इकाइयां कोविङ-19 की गाइड लाइंस के अनुसार संचालित हों , इसकी नियमित मॉनिटरिंग की जाए , आत्मनिर्भर भारत पैकेज का पूर्ण लाभ प्राप्त करने के लिए बैंक अधिकारियों के साथ बैठक कर योजनाबद्ध ढंग से कार्यवाही की जाए |

लखनऊ : 25 सितम्बर, 2020

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने जनपद कानपुर नगर और लखनऊ में अतिरिक्त चिकित्सा कर्मियों की तैनाती करते हुए चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के निर्देश दिए हैं । उन्होंने कहा है कि आर0एम0एल0आई0एम0एस0 में उपलब्ध 300 बेड्स के भवन को डेडिकेटेड कोविड अस्पताल के रूप में संचालित किया जाए । मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे । उन्होंने कोविड अस्पतालों में सभी औषधियों एवं अन्य मेडिकल सामग्री की सुचारु उपलब्धता बनाए रखने के निर्देश दिए हैं । उन्होंने कहा है कि होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों से जनपद स्तर पर संवाद के साथ-साथ सी0एम0 हेल्पलाइन के माध्यम से भी सम्पर्क स्थापित रखते हुए उनके स्वास्थ्य की नियमित जानकारी प्राप्त की जाए ।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोविड -19 के संक्रमण की चेन को तोड़ने में कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग तथा मेडिकल टेस्टिंग की महत्वपूर्ण भूमिका है । इसलिए इनसे जुड़ी कार्यवाही को पूरी तेजी से संचालित किया जाए । कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग को गति प्रदान करने के लिए आवश्यकतानुसार अतिरिक्त टीमें लगाई जाए । ज्यादा से ज्यादा मेडिकल टेस्टिंग करने के लिए सभी लैब्स को पूरी क्षमता से संचालित किया जाए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोविड -19 से बचाव और सुरक्षा के सम्बन्ध में जागरूकता का अभियान जारी रखा जाए । इसके लिए विभिन्न प्रचार माध्यमों के साथ - साथ पब्लिक एड्रेस सिस्टम का व्यापक तौर पर उपयोग किया जाए । पब्लिक एड्रेस सिस्टम के द्वारा लोगों को कोविड-19 से सुरक्षा तथा यातायात नियमों की जानकारी दी जाए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि औद्योगिक इकाइयां कोविड-19 की गाइड लाइंस के अनुसार संचालित हों , इसकी नियमित मॉनिटरिंग की जाए । आत्मनिर्भर भारत पैकेज का पूर्ण लाभ प्राप्त करने के लिए बैंक अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए योजनाबद्ध ढंग से कार्यवाही की जाए । इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश खन्ना , स्वास्थ्य मंत्री श्री जय प्रताप सिंह , मुख्य सचिव श्री आर 0 के 0 तिवारी , अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन , कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा , अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव मित्तल , अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना श्री अवनीश कुमार अवस्थी , पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी , अपर मुख्य सचिव राजस्व श्रीमती रेणुका कुमार , अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद , अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डॉ0 रजनीश दुबे , अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 श्री नवनीत सहगल , अपर मुख्य सचिव पंचायती राज एवं ग्राम्य विकास श्री मनोज कुमार सिंह , अपर मुख्य सचिव कृषि श्री देवेश चतुर्वेदी , प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री आलोक कुमार , प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री संजय प्रसाद , सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार , सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे ।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Pages