Breaking News

शुक्रवार, 8 मई 2020

उरई: हिंदुस्तान यूनिलीवर के सहयोग से परमार्थ समाज सेवी संस्थान द्वारा असहायों को रसद सामग्री का वितरण Orai: Distribution of logistic materials to the helpless by Paramarth Samaj Sevi Sansthan in collaboration with Hindustan Unilever


उरई: हिंदुस्तान यूनिलीवर के सहयोग से परमार्थ समाज सेवी संस्थान द्वारा असहायों को रसद सामग्री का वितरण Orai: Distribution of logistic materials to the helpless by Paramarth Samaj Sevi Sansthan in collaboration with Hindustan Unilever  संवाददाता, Journalist Anil Prabhakar.                  www.upviral24.in

http://upviral24.in/उरई: हिंदुस्तान यूनिलीवर के सहयोग से परमार्थ समाज सेवी संस्थान द्वारा असहायों को रसद सामग्री का वितरण Orai: Distribution of logistic materials to the helpless by Paramarth Samaj Sevi Sansthan in collaboration with Hindustan Unilever  संवाददाता, Journalist Anil Prabhakar.                  www.upviral24.in


उरई: हिंदुस्तान यूनिलीवर के सहयोग से परमार्थ समाज सेवी संस्थान द्वारा असहायों को रसद सामग्री का वितरण अनवरत जारी है। शहर में कई बस्तियां ऐसी हैं जहां लोगों के पास रहने को आशियाना तक नहीं है तो बिना ठिकाने के राशन कार्ड कैसे बनें। लाॅकडाउन के कारण ऐसे परिवार मजदूरी के लिए नहीं निकल पा रहे इसलिए उन पर भुखमरी का साया मंडरा रहा है। परमार्थ ने हाल में ऐसे परिवारों को 500 खाद्यान्न पैकिटों का वितरण किया।
प्रशासन इसमें पूरी मदद कर रहा है। उसके द्वारा सर्वे कराकर जरूरतमंदों की जो सूची संस्थान को सौपी जाती है उसके मुताबिक वितरण होता है। हाल में शहर की सबसे तंगहाल बस्तियों कच्ची बस्ती, सुशील नगर, इन्दिरा नगर, लहरियापुरवा, बघौरा, नया पाठकपुरा और फैक्ट्री एरिया के साथ-साथ शहर से जुड़े आधा दर्जन ग्रामों रगौली, रगेदा, रेवा, सरसौखी, राहिया और दौलतपुरा में परमार्थ की टीम प्रशासन के सर्वे में चिन्हित हर जरूरतमंद के दरवाजे पहुंची तो बेवसी और लाचारी में घुट रहे ऐसे परिवारों के चेहरे खिल गये।
वितरण के समय तहसीलदार करमवीर सिंह और लेखपाल प्रशासन के प्रतिनिधि के रूप में उपस्थित रहते हैं ताकि पूरी पारदर्शिता का निर्वाह हो सके। हर रसद पैकिट में रसोई की पूरी सामग्री पर्याप्त मात्रा में शामिल की जाती है जिसमें पांच किलो आटा, पांच किलो चावल, एक किलो दाल, एक लीटर तेल, एक किलो नमक के साथ-साथ एक किलो चीनी, चाय पत्ती, पांच कपड़े धोने का साबुन व पांच नहाने के साबुन भी दिये जा रहे हैं। हिंदुस्तान यूनिलीवर  के अधिकारी भी वितरण के दौरान समय-समय पर उपस्थित रहकर टीम का मनोबल बढ़ाते हैं। 

Orai: The distribution of logistic materials to the helpless continues by the Paramarth Samaj Sevi Sansthan in collaboration with Hindustan Unilever. There are many settlements in the city where people do not even have a place to live, so how to get a ration card without a hideout. Due to the lockdown, such families are unable to leave for wages, so they are being starved. Parmarth recently distributed 500 food packets to such families.
The administration is fully helping in this. The survey is distributed according to the list of needy people who are assigned to the institute. Parmarth's team in half-a-dozen villages Rangoli, Rageda, Rewa, Sarsoukhi, Rahia, and Daulatpura, along with the city's most cramped settlements Kutchi Basti, Sushil Nagar, Indira Nagar, Lahariyapurwa, Baghaura, Naya Pathakpura and Factory areas in the recent past. When the survey of the administration reached the door of every needy, the faces of such families suffocated in infidelity, and helplessness blossomed.
At the time of distribution, Tehsildars Karamveer Singh and Lekhpal are present as representatives of the administration so that complete transparency can be maintained. In every logistics packet, the entire kitchen material is included in sufficient quantity including five kilograms of flour, five kilograms of rice, one kilogram of lentils, one liter of oil, one kilogram of salt as well as one kilogram of sugar, tea leaf, five laundries. Soaps and five bath soaps are also being given. Hindustan Unilever officials also increase team morale by being present from time to time during distribution. 





कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Pages