Breaking News

गुरुवार, 7 मई 2020

मुख्यमंत्री योगी के प्रवासी कामगारों/श्रमिकों के लिए रोजगार की कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश Instructions to prepare an employment plan for the migrant laborers/workers of Chief Minister Yogi


मुख्यमंत्री योगी के प्रवासी कामगारों/श्रमिकों के लिए रोजगार की कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश    Instructions to prepare an employment plan for the

मुख्यमंत्री योगी के प्रवासी कामगारों/श्रमिकों के लिए रोजगार की कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश    Instructions to prepare an employment plan for the

मुख्यमंत्री योगी के प्रवासी कामगारों/श्रमिकों के लिए रोजगार की कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश    Instructions to prepare an employment plan for the

मुख्यमंत्री योगी के प्रवासी कामगारों/श्रमिकों के लिए रोजगार की कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश    Instructions to prepare an employment plan for the

मुख्यमंत्री योगी के प्रवासी कामगारों/श्रमिकों के लिए रोजगार की कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश    Instructions to prepare an employment plan for the


  • उ0प्र0 मुख्यमंत्री ने प्रवासी कामगारों / श्रमिकों के लिए रोजगार की व्यापक कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए 
  • राज्य सरकार प्रवासी कामगारों व श्रमिकों की सुरक्षित वापसी के लिए कार्य कर रही : मुख्यमंत्री 
  • अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि प्रवासी कामगार / श्रमिक पैदल यात्रा कर प्रदेश में न आएं 
  • प्रदेश में संचालित औद्योगिक इकाइयों तथा इनके माध्यम से लोगों को उपलब्ध हो रहे रोजगार का विवरण संकलित किया जाए 
  • विदेश से आने वाले लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग व क्वारंटीन के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश 
  • लॉकडाउन को सख्ती से लागू किया जाए 
  • जनपदों में सेनिटाइजेशन का कार्य निरन्तर जारी रखा जाए 
  • लखनऊ के सी0डी0आर0आई0 , आई0आई0टी0आर0 , बी०एस०आई०पी० तथा आई0वी0आर0आई , बरेली को टेस्टिंग कार्य से सम्बन्धित सभी संसाधन सुचारू रूप से उपलब्ध होते रहें 
  • प्रदेश सरकार आयुष्मान योजना से आच्छादित अस्पतालों को अनुदानित दर पर पी0पी0ई0 किट , एन - 96 मास्क तथा सेनिटाइजर आदि की व्यवस्था कर रही 
  • मुख्य पशु चिकित्साधिकारी निराश्रित गौ - वंश के लिए स्थापित गौ - आश्रय स्थलों का समय - समय पर निरीक्षण करें
लखनऊ : 07 मई , 2020 
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने प्रवासी कामगारों / श्रमिकों के लिए रोजगार की व्यापक कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए हैं । उन्होंने कहा कि कामगारों / श्रमिकों को मनरेगा , एम0एस0एम0ई0 , ओ0डी0ओ0पी0 , विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना , महिला स्वयं सहायता समूह , डेयरी , खाद्य प्रसंस्करण तथा गौ - आश्रय स्थल से जोड़ते हुए रोजगार का प्रबन्ध किया जाए । दुग्ध समितियों तथा पौध नर्सरी के माध्यम से भी प्रवासी कामगारों / श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने की कार्यवाही की जाए ।  मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्च स्तरीय बैठक में लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे । मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिए कि प्रदेश में संचालित औद्योगिक इकाइयों तथा इनके माध्यम से लोगों को उपलब्ध हो रहे रोजगार का विवरण संकलित किया जाए । महिला स्वयं सहायता समूह को मास्क निर्माण के साथ - साथ अचार , मुरब्बा , जैम , पापड आदि कार्यों से जोड़ते हुए इन्हें और प्रभावी बनाया जाए । मुख्यमंत्री जी ने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे यह सुनिश्चित करें कि प्रवासी कामगार / श्रमिक पैदल यात्रा कर प्रदेश में न आएं । राज्य सरकार प्रवासी कामगारों व श्रमिकों की सुरक्षित वापसी के लिए कार्य कर रही है । उन्होंने कहा कि प्रदेश वापस लौटने वाले प्रवासी कामगारों / श्रमिकों के स्वास्थ्य की जांच की जाए । इसके लिए प्रत्येक क्यारंटीन सेन्टर में मेडिकल टीम की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए । स्वस्थ होने की दशा में 14 दिन की होम क्वारंटीन के लिए कामगारों / श्रमिकों को घर भेजा जाए । स्वास्थ्य परीक्षण में अस्वस्थ पाए गए लोगों के उपचार की व्यवस्था की जाए । उन्होंने कहा कि घर भेजे जाने वाले कामगारों / श्रमिकों को राशन किट उपलब्ध कराया जाए । निराश्रितों को राशन किट के साथ - साथ 1000 रुपए का भरण पोषण भत्ता भी दिया जाए । मुख्यमंत्री जी ने विदेश से आने वाले लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग व क्यारंटीन के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए । उन्होंने कहा कि क्वारंटीन सेन्टर की संख्या में वृद्धि की जाए । कम्युनिटी किचन की संख्या बढ़ाते हुए इनके माध्यम से गुणवत्तापरक भोजन की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए । उन्होंने निर्देश दिए कि लॉकडाउन को सख्ती से लागू किया जाए । सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन कराया जाए । सभी जनपदों में सेनिटाइजेशन का कार्य निरन्तर जारी रखा जाए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि मेडिकल इन्फेक्शन रोकने के लिए सभी उपाय किए जाएं । भर्ती करने से पूर्व मरीज की अस्पताल में मेडिकल स्क्रीनिंग की जाए । अस्पतालों में बायो - मेडिकल वेस्ट के निस्तारण के समुचित प्रबन्ध किए जाएं । संक्रमण से सुरक्षा के लिए डॉक्टरों तथा अन्य चिकित्सा कर्मियों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम निरन्तर जारी रखे जाएं । पुलिस बल को संक्रमण से बचाने के लिए पूरी सतर्कता बरती जाए । समस्त चिकित्सालयों पी0पी0ई0 किट , एन - 95 मास्क तथा सेनिटाइजर की सुचारू उपलब्धता सुनिश्चित की जाए । प्रदेश सरकार आयुष्मान योजना से आच्छादित अस्पतालों को अनुदानित दर पर पी०पी0ई0 किट , एन - 95 मास्क तथा सेनिटाइजर आदि की व्यवस्था कर रही है । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि लखनऊ के सी0डी0आर0आई0 , आई0आई0टी0आर0 एवं बी0एस0आई0पी0 तथा आई0वी0आर0आई0 . बरेली में मेडिकल टेस्टिंग का कार्य प्रारम्भ हो गया है । यह सुनिश्चित किया जाए कि इन संस्थानों को टेस्टिंग कार्य से सम्बन्धित सभी संसाधन सुचारू रूप से उपलब्ध होते रहें । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि मण्डियों में सोशल डिस्टेंसिंग के पालन के साथ - साथ नियमित तौर पर सेनिटाइजेशन कराया जाए । मण्डियों में साफ - सफाई का विशेष ध्यान रखा जाए और यह भी सुनिश्चित किया जाए कि लोग मास्क तथा ग्लव्स का प्रयोग करें । उन्होंने निर्देश दिए कि प्रत्येक जनपद के मुख्य पशु चिकित्साधिकारी निराश्रित गौ - वंश के लिए स्थापित गौ - आश्रय स्थलों का समय - समय पर निरीक्षण करें । उन्होंने कहा कि खनन के पट्टे जारी कर दिए जाएं । इससे मोरंग , बालू आदि को निकालने का कार्य किया जा सकेगा , जिससे राजस्व में वृद्धि होगी । इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश खन्ना , स्वास्थ्य मंत्री श्री जय प्रताप सिंह , स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री अतुल गर्ग , मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी , कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा , अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन , अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी , अपर मुख्य सचिव राजस्व श्रीमती रेणुका कुमार , अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव मित्तल , पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी , प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद , प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री संजय प्रसाद , प्रमुख सचिव एम०एस०एम०ई० श्री नवनीत सहगल , प्रमुख सचिव ग्राम्य विकास एवं पंचायतीराज श्री मनोज कुमार सिंह , प्रमुख सचिव कृषि डॉ0 देवेश चतुर्वेदी , प्रमुख सचिव पशुपालन श्री भुवनेश कुमार , सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार , सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे ।   


  • U.P. CM directs to prepare an extensive action plan for the employment of migrant labourers/workers 
  • The state government has been actively engaged in bringing migrant labour back safely : CM 
  • Officers should ensure that no migrant labour should return to the state while travelling on foot 
  • Collect details of industrial units being run and employment provided to people through them 
  • Make all necessary arrangements of medical screening and quarantine for those who are returning from abroad 
  • Lockdown guidelines to be followed strictly 
  • Sanitisation work in the districts to be continued 
  • Ensure all resources being provided to CDRI, IITR, BSIP and IVRI, Bareilly for testing 
  • State government has been making arrangements of PPE kits, N-95 masks and sanitiser at subsidised rates in the hospitals covered under Ayushman Scheme 
  • Chief Veterinary Officer in every district shall inspect the cow-shelter homes regularly 

Lucknow : 07 May, 2020 
Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath Ji has directed to prepare an extensive action plan for the employment of migrant labourers/workers. He said the labourers/workers should be linked to MNGREGA, MSME, ODOP, Vishwakarma Samman Yojana, Women Self Help Groups, Food processing and Cow Shelters, Milk Samitis and Plant Nurseries to create jobs for them. Addressing a high-level lockdown review meeting at his official residence on Thursday, he said that details of industrial units being run and employment provided to people through them should be documented. He also directed to make this endeavour more effective by 2 involving women SHGs in production of masks and preparation of pickles, Murabba, Jam, papad etc. The CM issued categorical directions to the officials to ensure that no migrant labour should return to the state while travelling on foot. He assured that the state government has been actively engaged in bringing them back safely. The CM asked the officials to ensure proper health check-up of migrants who return and for which the medical teams should be duly deployed at quarantine centres even as the healthy ones should be sent to 14-day home quarantine. He said the government is duty-bound to send 'unwell' migrants to treatment. He also said that that the migrant labourers being sent to home should be given ration kit while the destitute should be provided with ration kit along with Rs 1000 as sustenance allowance. The Chief Minister also ordered to make all necessary arrangements of medical screening and quarantine for those who are returning from abroad. The quarantine centres should be increased and also the number of community kitchens with good quality of food needed to be augmented. He said that Lockdown and social distancing should be followed strictly and the sanitation work in the districts to be continued as usual. He asked to ensure prevention of medical infection and the patients being admitted should be screened properly. The adequate arrangements for disposal of medical waste should be ensured while the training programme of doctors and other health staff for the prevention of medical infection should be continued, he said adding the police force should be protected well and all the hospitals should be equipped with PPE kits, N-95 masks and sanitiser. He also told that the state government has been making arrangements of PPE kits, N-95 masks and sanitiser at subsidised rates in the hospitals covered under Ayushman Scheme. 3 The CM said that testing has commenced at CDRI, IITR, BSIP, Lucknow and IVRI, Bareilly. He asked the officials to ensure all resources are being provided to these institutes for testing. He asserted that the Mandis are needed to be sanitised regularly and the social distancing to be ensured there. Besides, routine sanitation, the use of mask and gloves should be made compulsory in the Mandis, he added. He further directed to ensure that the Chief Veterinary Officer in every district should inspect the cow-shelter homes regularly. The CM ordered to release 'Patta' for mining so that the mining of maurang and sand could generate additional revenue for the state. Those present in the meeting included the Medical Education Minister Shri Suresh Khanna, Health Minister Shri Jai Pratap Singh, Minister of State for Health Shri Atul Garg, Chief Secretary Shri R.K. Tiwari, Agriculture Production Commissioner Shri Alok Sinha, Infrastructure and Industrial Development Commissioner Shri Alok Tandon, Additional Chief Secretary Home and Information Shri Awanish Kumar Awasthi, Additional Chief Secretary Finance Shri Sanjeev Mittal, Additional Chief Secretary Revenue Ms. Renuka Kumar, Director General of Police Shri H.C. Awasthi, Principal Secretary Health Shri Amit Mohan Prasad, Principal Secretary MSME Shri Navneet Sehgal, Principal Secretary Rural Development and Panchayati Raj Shri Manoj Kumar Singh, Principal Secretary Agriculture Shri Devesh Chaturvedi, Principal Secretary Animal Husbandary Shri Bhuvnesh Kumar, Principal Secretary to CM Shri S.P. Goyal and Shri Sanjay Prasad, Secretary to CM Shri Alok Kumar, Director Information Shri Shishir and other senior officers.

                                                                                                                                                            




कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Pages