Breaking News

शुक्रवार, 1 मई 2020

उत्तर प्रदेश सरकार श्रमिकों के कल्याण के लिए कृतसंकल्पित -मुख्यमंत्री योगी Government of Uttar Pradesh committed to the welfare of workers - Chief Minister Yogi

https://www.upviral24.in/    संवाददाता, Journalist Anil Prabhakar.                 www.upviral24.in उत्तर प्रदेश सरकार श्रमिकों के कल्याण के लिए कृतसंकल्पित -मुख्यमंत्री योगी Government of Uttar Pradesh committed to the welfare of workers - Chief Minister Yogi

 उत्तर प्रदेश सरकार श्रमिकों के कल्याण के लिए कृतसंकल्पित : मुख्यमंत्री 
अन्य राज्यों से प्रवासी कामगारों/श्रमिकों की चरणबद्ध वापसी के लिए प्रदेश सरकार प्रभावी कदम उठा रही है 
मुख्यमंत्री हेल्प लाइन द्वारा ग्राम प्रधानों तथा पार्षदों से संवाद स्थापित कर सुनिश्चित कराया जाए कि कोई भी चोरी - छिपे न आये , ऐसे लोगों की कोरोना कैरियर होने की सम्भावना रहती है 
जनपद आगरा और कानपुर नगर में अतिरिक्त प्रशासनिक तथा डेडिकेटेड मेडिकल टीम भेजने के निर्देश
मरीज की स्थिति को देखते हुए उसे एल - 1 , एल - 2 अथवा एल - 3 कोविड चिकित्सालय में भर्ती किया जाए 
कोरोना को परास्त करने के लिए मेडिकल इन्फेक्शन को रोकना आवश्यक 
डिजिटल बैंकिंग को प्रोत्साहित करने से बैंकों में भीड़ नहीं लगेगी , इसके दृष्टिगत रुपे कार्ड से लेन - देन को बढ़ावा दिया जाए 
बाहर से आ रहे श्रमिकों के कौशल का विवरण संकलित किया जाए , जिससे इन श्रमिकों को उनकी कार्य दक्षता के अनुरूप रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये जा सकें 
लखनऊ स्थित सी0डी0आर0आई0 , आई0आई0टी0आर0 तथा बी०एस०आई०पी० में टेस्टिंग कार्य हेतु माइक्रो बायोलॉजिस्ट सहित अन्य मानव संसाधन उपलब्ध करा दिया गया . इन संस्थानों में कल शनिवार से टेस्टिंग कार्य प्रारम्भ हो जाएगा 

लखनऊ : 01 मई , 2020 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा है कि उत्तर प्रदेश सरकार श्रमिकों के कल्याण के लिए कृतसंकल्पित है । कोविड - 19 के कारण बाधित आर्थिक गतिविधियों से प्रभावित श्रमिकों व कामगारों के हितार्थ राज्य सरकार ने अनेक कदम उठाए हैं । अन्य राज्यों से प्रदेश के प्रवासी कामगारों / श्रमिकों की चरणबद्ध वापसी के लिए प्रदेश सरकार प्रभावी कदम उठा रही है । मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे । उन्होंने कहा कि अब तक दिल्ली से लगभग 04 लाख प्रवासी श्रमिकों एवं कामगारों तथा हरियाणा से 12 हजार श्रमिकों की प्रदेश में सुरक्षित वापसी हो चुकी है । इसी प्रकार अन्य राज्यों से । भी चरणबद्ध रूप से प्रवासी श्रमिकों की वापसी सुनिश्चित करायी जाए । मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिए कि एक बार में एक राज्य के प्रवासी कामगार / श्रमिकों को प्रदेश वापस लाने की कार्यवाही की जाए । इस सम्बन्ध में यह भी सुनिश्चित किया जाए कि सम्बन्धित राज्य सरकार ऐसे श्रमिकों का स्वास्थ्य परीक्षण करके ही उन्हें आने दें । यह भी ध्यान रखा जाए कि वापस आ रहे सभी कामगारों / श्रमिकों का नाम , पता एवं मोबाइल नम्बर युक्त विवरण उपलब्ध हो । उन्होंने कहा कि आने वाले प्रवासी श्रमिकों व कामगारों को तात्कालिक रूप से रखने के लिए क्वारंटीन सेन्टर / शेल्टर होम तैयार किये जाएं । इनमें कम्युनिटी किचन , शौचालय व सुरक्षा सहित सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध करायी जाएं । यह सुनिश्चित किया जाए कि कम्युनिटी किचन के द्वारा लोगों को भरपेट भोजन उपलब्ध हो । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वापस आये सभी श्रमिकों का अनिवार्य रूप से स्वास्थ्य परीक्षण किया जाए । स्वस्थ श्रमिकों को राशन किट के साथ 14 दिन के । होम क्वारंटीन के लिए घर भेजा जाए । जिनके स्वास्थ्य में कमी मिले , ऐसे श्रमिकों और कामगारों को संस्थागत क्वारंटीन के तहत क्वारंटीन सेन्टर में रखकर उपचार की व्यवस्था की जाए । _ _ प्रदेश के बॉर्डर को पूरी तरह सील करने के निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा कि सीमावर्ती क्षेत्रों में सतर्कता बरती जाए । यह सुनिश्चित किया जाए कि बगैर अनुमति कोई प्रदेश में आने न पाये । मुख्यमंत्री हेल्प लाइन के माध्यम से ग्राम प्रधानों तथा नगरों के पार्षदों से संवाद स्थापित करते हुए यह सुनिश्चित कराया जाए कि कोई भी चोरी - छिपे न आये । ऐसे लोगों की कोरोना कैरियर होने की सम्भावना रहती है । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि मरीज की स्थिति को देखते हुए उसे एल - 1 , एल - 2 अथवा एल - 3 कोविड चिकित्सालय में उपचार के लिए भर्ती किया जाए ।
सभी जनपदों में इमरजेन्सी सेवाओं का संचालन किया जाए । टेलीमेडिसिन तथा टेली कन्सल्टेंसी के माध्यम से चिकित्सीय परामर्श प्रदान करने वाले सरकारी एवं निजी चिकित्सकों की सूची समाचार पत्रों में प्रकाशित करायी जाए । मुख्यमंत्री जी ने पूल टेस्टिंग में वृद्धि करने के निर्देश दिये । उन्होंने कहा कि वैश्विक स्तर पर उपलब्ध गुणवत्तापरक टेस्टिंग किट को प्राप्त करने पर विचार किया जाए । बैठक में उन्हें अवगत कराया गया कि लखनऊ स्थित सी0डी0आर0आई0 , आई0आई0टी0आर0 तथा बी0एस0आई0पी0 में टेस्टिंग कार्य हेतु माइक्रो बायोलॉजिस्ट सहित अन्य मानव संसाधन उपलब्ध करा दिया गया है । इन । संस्थानों में कल शनिवार से टेस्टिंग कार्य प्रारम्भ हो जाएगा । मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये कि एल - 1 , एल - 2 तथा एल - 3 अस्पतालों की क्षमता में वृद्धि करते हुए 52 हजार बेड की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए । प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेज , डेन्टल कॉलेज तथा नर्सिग कॉलेज में आवश्यकतानुसार एल - 1 , एल - 2 चिकित्सालय स्थापित करने की कार्य योजना बनायी जाए । उन्होंने जनपद आगरा और कानपुर नगर में अतिरिक्त प्रशासनिक एवं डेडिकेटेड मेडिकल टीम भेजने के निर्देश दिये हैं । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि सावधानी एवं सतर्कता से ही कोरोना संक्रमण से । बचा जा सकता है । कोरोना को परास्त करने के लिए मेडिकल इन्फेक्शन को रोकना आवश्यक है । इमरजेन्सी सेवा उपलब्ध कराने वाले अस्पतालों में पी०पी०ई० किट , एन - 96 मास्क सहित सुरक्षा के सभी आवश्यक मानक अपनाये जाए । उन्होंने कहा कि कोविड - 19 के खिलाफ जंग में पुलिस कर्मी फ्रण्टलाइन पर कार्य कर रहे हैं । इन्हें संक्रमण से बचाने के लिए सभी सुरक्षा उपकरण प्रदान किये जाएं तथा मेडिकल प्रशिक्षण देने की व्यवस्था की जाए । प्रशिक्षण के लिए मास्टर ट्रेनर नियुक्त किये जाए तथा इस सम्बन्ध में एक एप भी डेवलप किया जाए । पुलिस लाइन , थाने आदि को सेनेटाइज किया जाए । रोडवेज बसों के चालकों को मास्क तथा ग्लव्स उपलब्ध कराए जाए । 
मुख्यमंत्री जी ने विभिन्न राज्यों के लिए नोडल अधिकारियों के कार्यों की जानकारी प्राप्त करते हुए निर्देश दिये कि समस्त नोडल अधिकारी फोन पर उपलब्ध रहते हुए लोगों की दिक्कतों को सुनें एवं उनका समाधान कराएं । मण्डियों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए भीड एकत्र न होने दी जाए । उन्होंने कहा कि डिजिटल बैंकिंग को प्रोत्साहित करने से बैंकों में भीड़ नहीं लगेगी । इसके दृष्टिगत रुपे कार्ड से लेन - देन को बढ़ावा दिया जाए । उन्होंने कहा कि बाहर से आ रहे श्रमिकों के कौशल का विवरण संकलित करते हुए सूची तैयार की जाए , जिससे इन श्रमिकों को उनकी कार्य दक्षता के अनुरूप रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये जा सकें । इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश खन्ना , स्वास्थ्य मंत्री श्री जय प्रताप सिंह , स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री अतुल गर्ग , मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी , कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा , अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन , अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी , अपर मुख्य सचिव राजस्व श्रीमती रेणुका कुमार , अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव मित्तल , पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी , प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा डॉ0 रजनीश दुबे , प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद , प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री एस0पी0 गोयल एवं श्री संजय प्रसाद , प्रमुख सचिव एम०एस०एम0ई0 श्री नवनीत सहगल , प्रमुख सचिव ग्राम्य विकास एवं पंचायतीराज श्री मनोज कुमार सिंह , प्रमुख सचिव खाद एवं रसद श्रीमती निवेदिता शुक्ला वर्मा , प्रमुख सचिव कृषि डॉ0 देवेश चतुर्वेदी , प्रमुख सचिव पशुपालन श्री भुवनेश कुमार , सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार , सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे । 



Government of Uttar Pradesh committed to the welfare of workers: Chief Minister
The state government is taking effective steps for a phased withdrawal of migrant workers/workers from other states
Through the Chief Minister's Helpline, communication with village heads and councilors should be ensured to ensure that no one is hiding secretly, such people are likely to have a corona career.
Instructions to send additional administrative and dedicated medical teams to district Agra and Kanpur city
Depending on the condition of the patient, he should be admitted to L-1, L-2, or L-3 Covid Hospital.
Preventing medical infection is necessary to defeat the corona
In order to encourage digital banking, banks will not get crowded, in order to encourage transactions with RuPay card.
Details of skills of workers coming from outside should be compiled so that these workers can be provided employment opportunities according to their work efficiency
Other human resources including micro-biologists were made available for testing work at Lucknow-based CDRI, IITR, and BSIP. Testing work will start in these institutions from Saturday tomorrow.

Lucknow: May 01, 2020, Chief Minister Yogi Adityanath Ji has said that the Uttar Pradesh government is committed to the welfare of workers. The state government has taken several steps for the benefit of workers and workers affected by the economic activities disrupted due to Covid-19. The state government is taking effective steps for a phased withdrawal of migrant workers/workers from other states. The Chief Minister was reviewing the lockdown system at a high-level meeting convened at his government residence here today. He said that so far about 04 lakh migrant workers and workers from Delhi and 12 thousand workers from Haryana have been safely returned to the state. Similarly from other states. The return of migrant workers should also be ensured in a phased manner. The Chief Minister directed that action should be taken to bring back the migrant workers/workers from one state at a time. In this regard, it should also be ensured that the concerned state government should allow such workers to come to them only after conducting health tests. It should also be kept in mind that the details containing the name, address, and mobile number of all the returning workers/workers are available. He said that a quarantine center/shelter home should be prepared to keep the migrant workers and workers coming immediately. In this, all necessary facilities including community kitchen, toilets and security should be provided. It should be ensured that through the community kitchen, there is plenty of food available to the people. The Chief Minister said that all the workers who came back should be compulsorily tested. 14 days of health workers with ration kits. Be sent home for home quarantine. For those whose health is lacking, treatment should be arranged by keeping such workers and workers in the quarantine center under institutional quarantine. While giving instructions to completely seal the border of the state, the Chief Minister said that vigilance should be taken in the border areas. It should be ensured that no one comes into the state without permission. Through the Chief Minister Helpline, communicating with the village heads and councilors of the cities, it should be ensured that no one is caught stealing. Such people are likely to have a corona career. The Chief Minister said that in view of the patient's condition, he should be admitted to L-1, L-2, or L-3 Covid Hospital for treatment.
Emergency services should be conducted in all districts. The list of government and private doctors who provide medical counseling through telemedicine and tele-consultancy should be published in newspapers. The Chief Minister gave instructions to increase pool testing. He said that quality testing kits available globally should be considered. He was informed in the meeting that other human resources including microbiologists have been made available for testing work in CDRI, IITR, and BSIP in Lucknow. In. Testing work will start in the institutes tomorrow from Saturday. The Chief Minister instructed that by increasing the capacity of L-1, L-2, and L-3 hospitals, the arrangement of 52 thousand beds should be ensured. Action plans should be made to establish L-1, L-2 hospitals in private engineering colleges, dental colleges, and nursing colleges as per requirements. He has given instructions to send additional administrative and dedicated medical teams to Agra and Kanpur Nagar districts. Chief Minister said that due to caution and vigilance due to corona infection. can be avoided. To overcome the corona it is necessary to prevent medical infection. All necessary standards of safety including PPE kits, N-96 masks should be adopted in hospitals providing emergency services. He said that police personnel is working on the frontline in the war against Covid-19. To protect them from infection, all safety equipment should be provided and medical training should be arranged. Master trainers should be appointed for training and an app should also be developed in this regard. Police lines, police stations, etc. should be sanitized. Masks and gloves should be provided to the drivers of roadways buses.
The Chief Minister, while getting information about the works of the nodal officers for various states, gave instructions that all the nodal officers should listen to the problems of the people while being available on the phone and get them resolved. Crowds should not be allowed to collect social distancing in the mandis. He said that banks will not get crowded by encouraging digital banking. In view of this, transactions with RuPay cards should be encouraged. He said that a list should be prepared after compiling the details of the skills of the workers coming from outside so that these workers can be provided employment opportunities according to their work efficiency. On this occasion, Medical Education Minister Mr. Suresh Khanna, Health Minister Mr. Jai Pratap Singh, Minister of State for Health Mr. Atul Garg, Chief Secretary Mr. RK Tiwari, Agriculture Production Commissioner Mr. Alok Sinha, Infrastructure and Industrial Development Commissioner Mr. Alok Tandon, Additional Chief Secretary Information and Home Shri Avnish Kumar Awasthi, Additional Chief Secretary Revenue Mrs. Renuka Kumar, Additional Chief Secretary Finance Mr. Sanji And Mittal, Director General of Police Mr. Hitesh C. Awasthi, Principal Secretary Medical Education Dr. Rajneesh Dubey, Principal Secretary Health Mr. Amit Mohan Prasad, Principal Secretary Chief Minister Mr. SP Goel and Mr. Sanjay Prasad, Principal Secretary MSME Mr. Navneet Sehgal, Principal Secretary Rural Development and Panchayati Raj. Mr. Manoj Kumar Singh, Principal Secretary of Fertilizer and Logistics Smt. Nivedita Shukla Verma, Principal Secretary Agriculture Dr. Evesh Chaturvedi, Principal Secretary Animal Husbandry Mr. Bhuvnesh Kumar, Chief Secretary Alok Kumar, Director Information other senior officials, including Mr. Shishir.





कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Pages