Breaking News

शुक्रवार, 1 मई 2020

मुख्यमंत्री योगी ने मई दिवस पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से श्रमिकों से संवाद किया Chief Minister Yogi interacted with workers through video conferencing on May Day

मुख्यमंत्री योगी ने मई दिवस पर वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से श्रमिकों से संवाद किया                 Chief Minister Yogi interacted with workers through video conferencing on May Day मुख्यमंत्री योगी ने मई दिवस पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से श्रमिकों से संवाद किया                 Chief Minister Yogi interacted with workers through video conferencing on May Day      संवाददाता, Journalist Anil Prabhakar.                 www.upviral24.in

उ0प्र0: मुख्यमंत्री ने मई दिवस पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से श्रमिकों से संवाद किया मुख्यमंत्री ने कामगारों और श्रमिकों को मई दिवस की बधाई दी दुनिया के नवनिर्माण में कामगारों और श्रमिकों के योगदान को सदैव याद रखा जाएगा : मुख्यमंत्री केन्द्र व प्रदेश सरकार कामगारों और श्रमिकों के हितों के लिए पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है प्रदेश सरकार ने आपदा के समय में कामगारों व श्रमिकों के कल्याण हेतु विभिन्न योजनाएं लागू की लगभग 30 लाख श्रमिकों जिन्हें 1000 रु0 की पहली किश्त प्राप्त हो गयी है . उन्हें आज से दूसरी किश्त भेजने का काम प्रारम्भ किया जा रहा है 18 करोड़ लोगों को दो चरणों में खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा चुका है , आज से तीसरे चरण का खाद्यान्न वितरण भी प्रारम्भ किया गया है प्रदेश के कोरोना से अप्रभावित क्षेत्रों में औद्योगिक गतिविधियां प्रारम्भ मुख्यमंत्री ने कामगारों और श्रमिकों से धैर्य रखते हुए लॉकडाउन के नियमों और सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करने की अपील की पहले पुलिस वॉरण्ट और डण्डा लेकर आती थी . वर्तमान सरकार में पुलिस खाना और राशन उपलब्ध कराकर हम लोगों की सेवा कर रही है . यही रामराज की पहचान है : एक अमिक लखनऊ : 01 मई . 2020 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कामगारों और श्रमिकों को बधाई देते हुए कहा कि दुनिया के नवनिर्माण में कामगारों और श्रमिकों के योगदान को सदैव याद रखा जाएगा । उन्होंने कहा कि कोरोना की महामारी वैश्विक आपदा है । कोरोना को रोकने के लिए इसके संक्रमण की चेन को तोड़ना आवश्यक है । इसके लिए कार्य योजना बनाकर कार्य किया जा रहा है । इसमें सहयोग की अपील करते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आप सभी का धैर्य , सहयोग , अनुशासन आप सभी सहित , आपके परिवार , देश व समाज के लिए उपयोगी सिद्ध होगा । मुख्यमंत्री जी मई दिवस के अवसर आज अपने सरकारी आवास पर आयोजित एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के श्रमिकों से संवाद कर रहे थे । उन्होंने कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकार कामगारों और श्रमिकों के हितों के लिए पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है । लगभग 30 लाख श्रमिकों जिन्हें 1000 रुपये की पहली किश्त प्राप्त हो गयी है , उन्हें आज से दूसरी किश्त भेजने का काम प्रारम्भ किया जा रहा है । प्रदेश के कोरोना से अप्रभावित क्षेत्रों में औद्योगिक गतिविधियां प्रारम्भ कर दी गयी हैं , किन्तु स्थिति के सामान्य होने में अभी कुछ समय लगेगा । उन्होंने कामगारों और अमिकों से इस स्थिति में धैर्य रखते हुए लॉकडाउन के नियमों और सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करने की अपील की । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वर्तमान में पूरी दुनिया वैश्विक महामारी के । संकट से गुजर रही है । इसका कोई उपचार अभी तक नहीं आया है । मात्र सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन ही बचाव का रास्ता है । उन्होंने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन का सर्वाधिक असर श्रमिकों पर पड़ा है । प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में देशवासियों से बेहतर स्वास्थ्य और सुरक्षित भविष्य के दृष्टिगत समयबद्ध ढंग से कदम उठाये गये हैं । गरीबों , किसानों , मजदूरों , महिलाओं , युवाओं आदि के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना बिना भेदभाव के पूरे देश में लागू की जा रही है । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी की प्रेरणा से प्रदेश सरकार ने भी । आपदा के समय में कामगारों व श्रमिकों के कल्याण हेतु विभिन्न योजनाएं लागू की गयी हैं । निर्माण श्रमिकों , ठेला , खोमचा , पटरी व्यावसायियों , ई - रिक्शा , रिक्शा चलाने वालों , निराश्रित व्यक्तियों , विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना से आच्छादित कामगारों यथा नाई . लुहार , मोची , कुम्हार आदि को 1000 रुपये की धनराशि प्रदान की जा रही है । इसके साथ ही खाद्यान्न भी प्रदान किया जा रहा है । अभी तक 30 लाख व्यक्तियों को 1000 रुपये की धनराशि तथा खाद्यान्न उपलब्ध कराया गया है । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि 88 लाख मनरेगा मजदूरों का 611 करोड़ रुपये का बकाया भुगतान कराया गया है । वर्तमान में 8 लाख से अधिक मनरेगा  मजदूरों को प्रतिदिन कार्य सुलभ कराया जा रहा है । मनरेगा मजदूरों की मजदूरी भी बढ़ायी गयी है । 18 करोड़ लोगों को दो चरणों में खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा चुका है । आज से तीसरे चरण का खाद्यान्न वितरण भी प्रारम्भ किया गया मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आपदा के इस काल में राज्य सरकार का प्रयास है कि किसी भी व्यक्ति को कोई समस्या न हो । राज्य सरकार द्वारा दूसरे प्रदेशों में कार्य करने वाले राज्य के प्रवासी कामगारों व श्रमिकों को वापस लाया जा रहा है । दिल्ली व हरियाणा से 04 लाख कामगार व श्रमिक वापस लाये गये है । मध्य प्रदेश से श्रमिकों व कामगारों को आज वापस लाया जा रहा है । इसी प्रकार , गुजरात , महाराष्ट्र व अन्य राज्यों से भी श्रमिकों व कामगारों को वापस लाने के लिए योजनाबद्ध ढंग से कार्य किया जा रहा है । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वापस लाये गये प्रवासी कामगारों व श्रमिकों को क्वारंटीन सेण्टर में रखकर उनका स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाएगा । उसके बाद उन्हें होम क्वारंटीन में भेजा जाएगा । उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने राशन कार्ड पर पोर्टेबिलिटी की सुविधा भी उपलब्ध करायी है । इससे प्रदेश का कोई भी राशन कार्ड धारक अन्य राज्य में भी राशन प्राप्त कर सकता है । उन्होंने कहा कि कोविड - 19 के उपचार के लिए राज्य सरकार ने एल - 1 , एल - 2 तथा एल - 3 अस्पतालों की स्थापना की है । इन अस्पतालों में 52 हजार बेड की व्यवस्था की गयी है । एक माह में इसे चरणबद्ध ढंग से बढ़ाकर एक लाख बेड तक किया जाएगा । वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान श्रम एवं सेवायोजन मंत्री श्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि मई दिवस पूरे विश्व में अन्तर्राष्ट्रीय श्रम दिवस के रूप में मनाया जाता है । मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में राज्य सरकार अमिकों के जीवन स्तर को ऊपर उठाने के लिए कार्य कर रही है । श्रमिकों को राष्ट्र निर्माता बताते हुए उन्होंने देश व प्रदेश के श्रमिकों को बधाई दी । उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी के मार्गदर्शन में बाबा साहब भीम राव आंबेडकर के सपनों व पं0 दीन दयाल उपाध्याय के अन्त्योदय के सिद्धान्तों को साकार किया जा रहा है ।
 वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मुख्यमंत्री जी ने कामगारों व अमिकों से संवाद भी किया । इस अवसर पर कामगारों व अमिकों ने मुख्यमंत्री जी के प्रति आभार प्रकट करते हुए उन्हें कोटि - कोटि धन्यवाद दिया । मुख्यमंत्री जी के श्रमिकों के कल्याण एवं हितों के लिए लिए गए निर्णयों और प्रयासों की सराहना करते हुए एक कविता भी पढ़ी । उन्होंने कहा कि लॉक डाउन के दौरान पुलिस कमियों का मानवीय पक्ष उभरकर समाज और श्रमिकों के सामने आया है । यहां तक कि वे श्रमिकों की भूख और प्यास की चिन्ता करते हुए उनके भोजन की व्यवस्था में भी निरन्तर लगे हुए हैं और श्रमिकों को खाना उपलब्ध कराया जा रहा है । मुख्यमंत्री जी ने बाराबंकी के राजमिस्त्री श्री अमर केश शर्मा से कहा कि जब श्रमिक और राजमिस्त्री मकान बनाते हैं . तभी लोग उन मकानों में रह पाते हैं । श्री अमर केश शर्मा ने कहा कि पूर्व की सरकारों में पुलिस से डर लगता था । पहले पुलिस वॉरण्ट और डण्डा लेकर आती थी और अब वर्तमान सरकार में पुलिस खाना और राशन उपलब्ध कराकर हम लोगों की सेवा कर रही है । यही रामराज की पहचान है । बाराबंकी के श्री वीर भवन ने मुख्यमंत्री जी से संवाद करते हुए कहा कि सही मायनों में यह सरकार गरीबों की सरकार है । श्री अंशु राठौर ने कहा कि यह सरकार जन सरोकारों और श्रमिकों के कल्याण के प्रति समर्पित सरकार है । बरेली के श्री वेद पाल ने कहा कि उन्हें यह आश्चर्य होता है कि मुख्यमंत्री जी के अन्दर वह शक्ति कहां से आयी , जिससे उन्होंने लॉक डाउन के दौरान विषम परिस्थितियों में श्रमिकों के कल्याण के लिए महत्वपूर्ण कार्यवाही की । झांसी के श्री बृजकिशोर ने मुख्यमंत्री जी को मई दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि उन्हें राशन भी मिला है और पैसा भी । मुख्यमंत्री जी ने बाराबंकी के श्री राजू गुप्ता , झांसी के श्री दुर्जन सिंह , फतेहपुर के श्री अमित कुमार , मऊ के श्री राहुल , सोनभद्र के श्री अशोक कुमार से भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद स्थापित किया । उन्होंने कहा कि श्रमिकों को पहली किश्त के रूप में एक - एक हजार रुपए उपलब्ध कराए जा चुके हैं और अब दूसरी किश्त के रूप में यह धनराशि सभी को उपलब्ध होगी ।

UP: Chief Minister interacted with workers through video conferencing on May Day. The Chief Minister congratulated the workers and workers on May Day. The contribution of workers and workers in the Navnirman of the world will always be remembered: Chief Minister Central and State Government Workers and Workers The state government is working with full commitment to the interests of the workers in times of disaster and Various schemes were implemented for the welfare of workers, about 30 lakh workers who have received the first installment of Rs. 1000. The work of sending them the second installment is being started from today, 18 crore people have been provided food grains in two phases, from today the third phase of food grains distribution has also been started. Industrial activities started in areas unaffected by Corona in the state. Chief Minister Takes initiative to appeal to workers and workers to be patient with lockdown rules and social distancing They used to bring police warrants and sticks. In the present government, the police are serving us by providing food and ration. This is the identity of Ramraj: An immortal Lucknow: 01 May. 2020 Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath Ji while congratulating the workers and workers, said that the contribution of workers and workers in the Navnirman of the world will always be remembered. He said that the corona epidemic is a global disaster. To prevent a corona, it is necessary to break the chain of infection. Work is being done by preparing an action plan for this. Appealing for cooperation in this, the Chief Minister said that patience, cooperation, the discipline of all of you, including all of you, will prove useful for your family, country, and society. Chief Minister was interacting with the workers of the state through a video conference held at his government residence today. He said that the Central and State Governments are working with full commitment to the interests of workers and workers. The work of sending the second installment to about 30 lakh workers who have received the first installment of 1000 rupees is being started from today. Industrial activities have been started in areas unaffected by the corona of the state, but it will take some time for the situation to normalize. He appealed to workers and workers to be patient in this situation and comply with the rules of lockdown and social distancing. The Chief Minister said that at present the whole world is suffering from a global epidemic. She is going through a crisis. There is no treatment for it yet. Social distancing and lockdown is the only way to escape. He said that the maximum impact of social distancing and lockdown has been on the workers. Steps have been taken in a time-bound manner with the leadership of the Prime Minister in view of better health and a safer future from the countrymen. Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana is being implemented across the country without discrimination for the poor, farmers, laborers, women, youth, etc. The Chief Minister said that with the inspiration of the Prime Minister, the State Government too. In times of disaster, various schemes have been implemented for the welfare of workers and workers. Construction workers, jamming, khomcha, track professionals, e-rickshaws, rickshaw pullers, destitute persons, workers covered by Vishwakarma Shram Samman Yojana like barber. A sum of Rs 1000 is being provided to blacksmiths, cobblers, potters, etc. Along with this, food grains are also being provided. So far, an amount of Rs 1000 and food grains have been made available to 30 lakh persons. The Chief Minister said that an outstanding payment of Rs 611 crore has been made to 88 lakh MNREGA workers. Currently more than 8 lakhs MNREGA  Workers are being made available daily. The wages of MNREGA workers have also been increased. Foodgrains have been made available to 18 crore people in two phases. From today, the third phase of food grains distribution was also started. The Chief Minister said that in this period of disaster, it is the effort of the state government that no person should have any problem. The state government is bringing back the migrant workers and workers working in other states. 04 lakh workers and laborers have been brought back from Delhi and Haryana. Workers and workers are being brought back from Madhya Pradesh today. Similarly, work is being done in a planned manner to bring back the workers and workers from Gujarat, Maharashtra, and other states. The Chief Minister said that the migrant workers and laborers who were brought back to a quarantine center will be put on health tests. He will then be sent to the Home Quarantine. He said that the state government has also provided the facility of portability on ration cards. With this, any ration cardholder of the state can get ration in other states as well. He said that the state government has established L-1, L-2, and L-3 hospitals for the treatment of covid-19. 52 thousand beds have been arranged in these hospitals. It will be increased to one lakh beds in a month in a phased manner. During video conferencing, Labor and Employment Minister Shri Swami Prasad Maurya said that May Day is celebrated as International Labor Day all over the world. The state government under the leadership of the Chief Minister is working to raise the standard of living of the Americans. Terming the workers as nation builders, he congratulated the workers of the country and the state. He said that under the guidance of Chief Minister, the dreams of Baba Saheb Bhim Rao Ambedkar and the principles of Antyodaya of Pandit Deen Dayal Upadhyay are being realized.
 In the video conferencing, the Chief Minister also interacted with workers and workers. On this occasion, the workers and workers thanked the Chief Minister and thanked him. A poem was also read appreciating the decisions and efforts taken for the welfare and interests of the Chief Minister's workers. He said that during the lockdown, the human side of the police shortcomings has emerged in front of society and workers. Even they are constantly engaged in the arrangement of their food, worrying about the hunger and thirst of the workers and food is being provided to the workers. The Chief Minister told Mr. Amar Kesh Sharma, a mason of Barabanki that when workers and masons build houses. Only then people can live in those houses. Shri Amar Kesh Sharma said that in previous governments, the police were scared. Earlier the police used to bring warrants and sticks and now in the present government, the police are serving us by providing food and ration. This is the identity of Ramraj. While communicating with the Chief Minister, Shri Veer Bhavan of Barabanki said that this government is truly a government of the poor. Shri Anshu Rathore said that this government is a government dedicated to the welfare of public concerns and workers. Shri Ved Pal of Bareilly said that he wonders where that power came from within the Chief Minister so that during the lock-down, he took important action for the welfare of the workers under odd conditions. Mr. Brijkishore of Jhansi, while wishing the Chief Minister a happy May Day, said that he has got ration and also money. The Chief Minister also interacted with Mr. Raju Gupta of Barabanki, Mr. Durjan Singh of Jhansi, Mr. Amit Kumar of Fatehpur, Mr. Rahul of Mau, Mr. Ashok Kumar of Sonbhadra through video conferencing. He said that one thousand rupees have been made available to the workers as the first installment and now this amount will be available to all as the second installment.




कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Pages