Breaking News

शनिवार, 9 मई 2020

मुख्यमंत्री योगी ने राजस्व प्राप्ति की समस्त सम्भावनाओं पर कार्य करने पर बल दिया Chief Minister Yogi emphasized to work on all possibilities of revenue generation



मुख्यमंत्री योगी ने राजस्व प्राप्ति की समस्त सम्भावनाओं पर कार्य करने पर बल दिया  Chief Minister Yogi emphasized to work on all possibilities of revenue generation    संवाददाता, Journalist Anil Prabhakar.                 www.upviral24.in


  1. उ0प्र0 मुख्यमंत्री ने राजस्व प्राप्ति की समस्त सम्भावनाओं पर कार्य करने पर बल दिया 
  2. प्रवासी कामगारों/श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए वृहद कार्ययोजना बनाई जाए : मुख्यमंत्री 
  3. महिला स्वयं सहायता समूह के लिए व्यापक स्तर पर प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालित किए जाएं 
  4. कोरोना की केमिस्ट्री को समझते हुए ट्रीटमेंट करने की आवश्यकता
  5. 'आयुष कवच - कोविड' एप का व्यापक प्रचार - प्रसार कर लोगों को इसे डाउनलोड करने के लिए प्रोत्साहित किया जाए 
  6. 18 करोड़ लोगों को तीन चरणों में खाद्यान्न उपलब्ध कराया गया जो एक बहुत बड़ा कार्य , क्योंकि 18 करोड़ तो कई देशों की आबादी भी नहीं 
  7. प्रदेश में कोविड - 19 के मरीजों की रिकवरी की दर 42 प्रतिशत , जो रिकवरी के राष्ट्रीय औसत 29 . 2 प्रतिशत से लगभग 13 प्रतिशत अधिक 
  8. एल - 1 , एल - 2 तथा एल - 3 कोविड चिकित्सालयों के 52 , 000 बेड के क्षमता विस्तार के लक्ष्य के सापेक्ष 53 , 400 बेड की व्यवस्था 
  9. पूल टेस्टिंग में प्रदेश देश में प्रथम स्थान पर 
  10. लॉकडाउन का कड़ाई से पालन कराने तथा वरिष्ठ अधिकारियों को स्वयं मॉनीटरिंग करने के निर्देश 
  11. मलेरिया , डेंगू सहित विभिन्न संचारी रोगों की प्रभावी रोकथाम के लिए विशेष अभियान चलाया जाए 
  12. गौ - आश्रय स्थलों को आय से जोड़ते हुए गोबर से कम्पोस्ट बनाकर खेतों में इस खाद का उपयोग किया जाए 

लखनऊ : 09 मई , 2020 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने राजस्व प्राप्ति की समस्त सम्भावनाओं पर कार्य करने पर बल दिया है । उन्होंने कहा कि कोविड - 19 से आर्थिक गतिविधियों प्रभावित हुई है । इसलिए राजस्व वृद्धि के वैकल्पिक स्रोत चिन्हित करने के लिए कार्ययोजना तैयार की जाए । मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहत एक उच्च स्तरीय बैठक में लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे । उन्होंने कहा कि प्रवासी कामगारों/श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए वृहद कार्ययोजना बनाई जाए । महिला स्वयं सहायता समूह के लिए व्यापक स्तर पर प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालित किए जाएं । इन समूहों की सदस्यों को रेडिमेड कपड़े तथा स्वेटर आदि तैयार करने के लिए प्रशिक्षित किया जाए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोरोना की केमिस्ट्री को समझते हुए ट्रीटमेंट करने की आवश्यकता है । यह भी महत्वपूर्ण है कि शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर कोरोना से बचा जा सकता है । प्रदेश सरकार द्वारा लॉन्च किए गए ' आयुष कवच - कोविड ' एप में जड़ी - बूटियों पर आधारित आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति से जुड़ी उपयोगी जानकारियों का समावेश किया गया है , जिन्हें अपनाकर लोग अपनी इम्युनिटी को विकसित कर सकते हैं । इसके दृष्टिगत ' आयुष कवच - कोविड ' एप का व्यापक प्रचार - प्रसार कर लोगों को इसे डाउनलोड करने के लिए प्रोत्साहित किया जाए । मुख्यमंत्री जी ने कोविड - 19 के खिलाफ जंग तथा इस महामारी से प्रभावित लोगों को राहत पहुंचाने के लिए सरकारी विभागों , निगमों एवं अन्य संस्थानों के कार्मिकों द्वारा किए जा रहे कार्य पर संतोष व्यक्त करते हुए आगे भी इसी प्रकार प्रतिबद्ध होकर कार्य करने के निर्देश दिए हैं । उन्होंने कहा कि 18 करोड़ लोगों को तीन चरणों में खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा चुका है । यह एक बहुत बड़ा कार्य है , क्योंकि 18 करोड़ तो कई देशों की आबादी भी नहीं है । बैठक में मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि प्रदेश में कोविड - 19 के मरीजों की रिकवरी की दर 42 प्रतिशत है । यह संख्या रिकवरी की राष्ट्रीय औसत 29 . 2 प्रतिशत से लगभग 13 प्रतिशत अधिक है । एल - 1 , एल - 2 तथा एल - 3 कोविड चिकित्सालयों के 52 , 000 बेड के क्षमता विस्तार के लक्ष्य के सापेक्ष 53 , 400 बेड की व्यवस्था कर ली गई है । पूल टेस्टिंग में प्रदेश देश में प्रथम स्थान पर है । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि मेडिकल इंफेक्शन से सुरक्षा के लिए डॉक्टरों तथा अन्य चिकित्सा कर्मियों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम लगातार संचालित किए जाएं । डिग्री व इण्टर कॉलेजों के प्रधानाचार्यों व शिक्षकों को भी प्रशिक्षित किया जाए , जिससे यह लोग आमजन को जागरुक कर सकें । समस्त मेडिकल कॉलेजों के प्रधानाचार्यों तथा सभी जनपदों में डिप्टी सी0एम0ओ0 से भी नियमित संवाद किया जाए । सभी जनपदों में पी०पी०ई० किट तथा एन - 95 मास्क की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जाए । उन्होंने कहा कि निजी अस्पतालों में इमरजेंसी सेवाओं के संचालन की अनुमति सम्बन्धित जिलाधिकारी तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी की कमेटी प्रदान करेगी । कमेटी यह सुनिश्चित करेगी कि इमरजेंसी सेवा प्रदान करने जा रहे चिकित्सालय में मेडिकल इंफेक्शन से सुरक्षा के सभी उपाय लागू हो गए हैं तथा अस्पताल की मेडिकल टीम को संक्रमण से बचाव के सम्बन्ध में प्रशिक्षित कर दिया गया है । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि हॉटस्पॉट क्षेत्रों में प्रभावी रणनीति बनाकर उसे लागू किया जाए । डोर स्टेप डिलीवरी तथा सप्लाई चेन को सुदृढ़ रखा जाए । क्यारंटीन सेन्टर तथा आश्रय स्थल में सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए । क्वारंटीन सेन्टर को जियो टैग करने के कार्य में तेजी लायी जाए । विदेश से आए लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग करते हुए आवश्यकतानुसार उन्हें उपचारित किया जाए । उन्होंने लॉकडाउन का कड़ाई से पालन कराने तथा वरिष्ठ अधिकारियों को स्वयं मॉनीटरिंग करने के निर्देश दिए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि गर्मी व बरसात के मौसम में संचारी रोगों के प्रसार की सम्भावना रहती है । इसे ध्यान में रखकर संचारी रोगों पर प्रभावी नियंत्रण आवश्यक है । मलेरिया , डेंगू सहित विभिन्न संचारी रोगों की प्रभावी रोकथाम के लिए विशेष अभियान चलाया जाए । उन्होंने इस सम्बन्ध में स्वास्थ्य , चिकित्सा शिक्षा , ग्राम्य विकास , नगर विकास , पंचायती राज , बाल विकास , महिला कल्याण आदि विभाग को एक समन्वित व समग्र कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए हैं । उन्होंने कहा कि निराश्रित गौ - वंश के संरक्षण के लिए संचालित गौ - आश्रय स्थलों को आय से जोड़ते हुए गोबर से कम्पोस्ट बनाकर खेतों में इस खाद का उपयोग किया जाए । इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश खन्ना , स्वास्थ्य मंत्री श्री जय प्रताप सिंह , स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री अतुल गर्ग , मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी , कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा , अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन , अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी , अपर मुख्य सचिव राजस्व श्रीमती रेणुका कुमार , अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव मित्तल , पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी० अवस्थी , प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद , प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री एस०पी० गोयल तथा श्री संजय प्रसाद , प्रमुख सचिव एम०एस०एम०ई० श्री नवनीत सहगल , प्रमुख सचिव ग्राम्य विकास एवं पंचायतीराज श्री मनोज कुमार सिंह , प्रमुख सचिव कृषि डॉ0 देवेश चतुर्वेदी , प्रमुख सचिव पशुपालन श्री भुवनेश कुमार , सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार , सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे ।

  1. Uttar Pradesh Chief Minister emphasized to work on all possibilities of revenue generation
  2. A comprehensive action plan should be chalked out to provide employment to migrant workers/workers: Chief Minister
  3. Conduct extensive training programs for women self-help groups
  4. Understanding the chemistry of Corona, the need for treatment
  5. People should be encouraged to download the 'Ayush Kavach - Covid' app by spreading it widely.
  6. 18 crore people were provided with food grains in three phases, which is a huge task because 18 million people do not even have a population of many countries.
  7. The rate of recovery of Covid-19 patients in the state is 42 percent, which is the national average of recovery 29. About 13 percent more than 2 percent
  8. Provision of 53, 400 beds against the target of capacity expansion of 52, 000 beds of L-1, L-2, and L-3 Covid hospitals.
  9. The state ranks first in pool testing
  10. Instructions to strictly follow the lockdown and self-monitoring of senior officials
  11. The special campaign should be launched for effective prevention of various communicable diseases including malaria, dengue
  12. This compost should be used in fields by making compost from cow dung, connecting cow-shelter sites with income.

Lucknow: 09 May 2020

Chief Minister Yogi Adityanath Ji has emphasized to work on all the possibilities of receiving revenue. He said that economic activity has been affected by Covid-19. Therefore, an action plan should be prepared to identify alternative sources of revenue growth. The Chief Minister was reviewing the lockdown system at a high-level meeting at his government residence here today. He said that a comprehensive action plan should be made to provide employment to migrant workers/workers. Extensive training programs should be conducted for women in self-help groups. The members of these groups should be trained to make ready-made clothes and sweaters etc. Chief Minister said that treatment is needed to understand the chemistry of Corona. It is also important that the corona is avoided by increasing the body's resistance. The 'Ayush Kavach - Covid' app launched by the state government has included useful information related to the Ayurvedic medicine system based on herbs, which people can adopt to develop their immunity. In view of this, people should be encouraged to download the 'Ayush Kavach - Covid' app by spreading it widely. Expressing satisfaction over the work being done by the employees of government departments, corporations, and other institutions to provide relief to the people affected by this epidemic and the war against Covid-19, the Chief Minister instructed to work in a similar way. Huh . He said that food grains have been made available to 18 crore people in three phases. This is a huge task because the population of many countries is not even 18 crore. In the meeting, the Chief Minister was informed that the rate of recovery of Covid-19 patients in the state is 42 percent. This number is the national average of recovery 29. About 13 percent of more than 2 percent. With regard to the target of capacity expansion of 52, 000 beds of L-1, L-2 and L-3 Covid hospitals, 53, 400 beds have been arranged. The state is first in the country in pool testing. The Chief Minister said that training programs for doctors and other medical personnel should be conducted continuously for protection from medical infection. The principals and teachers of degree and inter colleges should also be trained so that these people can make the public aware. Regular communication should also be held with the principals of all medical colleges and the Deputy CMO in all the districts. Adequate availability of PPE kits and N-95 masks should be ensured in all districts. He said that the committee of concerned District Magistrate and Chief Medical Officer will provide permission to conduct emergency services in private hospitals. The committee will ensure that all the safety measures against medical infection are implemented in the hospital providing emergency services and the medical team of the hospital has been trained in the prevention of infection.
The Chief Minister said that effective strategies should be implemented in hotspot areas. Doorstep delivery and supply chain should be strengthened. All necessary facilities should be made available in the Quarantine Center and shelter. The work of geo-tagging the Quarantine Center should be expedited. Those who come from abroad should undergo medical screening and treat them as necessary. He instructed to strictly observe the lockdown and monitor senior officers themselves. The Chief Minister said that there is a possibility of spreading communicable diseases during the summer and rainy seasons. Keeping this in mind, effective control over communicable diseases is necessary. The special campaign should be launched for effective prevention of various communicable diseases including malaria, dengue. He has directed the Health, Medical Education, Rural Development, City Development, Panchayati Raj, Child Development, Women Welfare, etc. to prepare a coordinated and comprehensive action plan in this regard. He said that this compost should be used in the fields by making compost from cow dung connecting the cow-shelter sites operated for the protection of the destitute cow-dynasty. On this occasion, Medical Education Minister Mr. Suresh Khanna, Health Minister Mr. Jai Pratap Singh, Minister of State for Health Mr. Atul Garg, Chief Secretary Mr. RK Tiwari, Agriculture Production Commissioner Mr. Alok Sinha, Infrastructure and Industrial Development Commissioner Mr. Alok Tandon, Additional Chief Secretary Information and Home Shri Avnish Kumar Awasthi, Additional Chief Secretary Revenue Mrs. Renuka Kumar, Additional Chief Secretary Finance Mr. Sanji And Mittal, Director General of Police Mr. Hitesh C. Awasthi, Principal Secretary Health Mr. Amit Mohan Prasad, Principal Secretary Chief Minister Mr. SP Goel and Mr. Sanjay Prasad, Principal Secretary MSME Mr. Navneet Sehgal, Principal Secretary Rural Development and Panchayati Raj Mr. Manoj Kumar Singh, Principal Secretary Agriculture. Dr. Devesh Chaturvedi, Principal Secretary Animal Husbandry Mr. Bhuvanesh Kumar, Secretary Chief Minister Mr. Alok Kumar, List Security Director other senior officials, including Mr. Shishir.;






कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Pages