Breaking News

शुक्रवार, 8 मई 2020

प्रदेश में सभी प्रवासी कामगारों/श्रमिकों के साथ सम्मानजनक व्यवहार किया जाए -मुख्यमंत्री योगी All migrant laborers/workers in the state should be treated with respect - Chief Minister Yogi

प्रदेश में सभी प्रवासी कामगारों/श्रमिकों के साथ सम्मानजनक व्यवहार किया जाए -मुख्यमंत्री योगी All migrant laborers/workers in the state should be treated with respect - Chief Minister Yogi         संवाददाता, Journalist Anil Prabhakar.                 www.upviral24.in

प्रदेश में सभी प्रवासी कामगारों/श्रमिकों के साथ सम्मानजनक व्यवहार किया जाए -मुख्यमंत्री योगी All migrant laborers/workers in the state should be treated with respect - Chief Minister Yogi         संवाददाता, Journalist Anil Prabhakar.                 www.upviral24.in


  1. उत्तर प्रदेश में सभी प्रवासी कामगारों / श्रमिकों के साथ सम्मानजनक व्यवहार किया जाए : मुख्यमंत्री 
  2. प्रवासी कामगारों/श्रमिकों की प्रदेश में सकुशल वापसी तथा प्रदेश में निवासित दूसरे राज्यों के कामगारों / श्रमिकों की सम्बन्धित राज्य में सकुशल वापसी के लिए बेहतर संवाद को आगे बढ़ाया जाए 
  3. उ0प्र0 में विभिन्न राज्यों से प्रवासी कामगारों/श्रमिकों को लेकर सर्वाधिक ट्रेनें पहुंचीं 
  4. सभी 75 जनपदों में जिलाधिकारियों को सहयोग प्रदान करने के लिए नामित । आई०ए०एस० तथा वरिष्ठ पी0सी0एस0 अधिकारियों से नियमित संवाद रखा जाए 
  5. प्रत्येक जनपद में क्षेत्र चयनित करते हुए सभी उपलब्ध फायर वाहनों से सेनिटाइज़ेशन कराने के निर्देश 
  6. राज्य सरकार द्वारा कोविड एवं नॉन - कोविड अस्पतालों को अलग - अलग स्थापित किये जाने से प्रदेश में कोविङ - 19 पर प्रभावी नियंत्रण लगा 
  7. सभी जनपदों के चिकित्सालयों में आवश्यक मेडिकल संसाधनों की नियमित उपलब्धता बनी रहे 
  8. मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को कोरोना मरीजों का अध्ययन कर रोगियों की केस हिस्ट्री तैयार करने के निर्देश 
  9. भूसा बैंक के स्थापना कार्य को गति दी जाए 
  10. उद्योग - धन्धों के सुगम संचालन के उददेश्य से सेक्टोरल नीतियों का आवश्यकतानुसार सरलीकरण पूरी पारदर्शिता से किया जाए 

लखनऊ : 08 मई , 2020 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा है कि प्रदेश में सभी प्रवासी कामगारों / श्रमिकों के साथ सम्मानजनक व्यवहार किया जाए । प्रवासी कामगारों / श्रमिकों की प्रदेश में सकुशल वापसी तथा प्रदेश में निवासित दूसरे राज्यों के कामगारों / श्रमिकों की सम्बन्धित राज्य में सकुशल वापसी के लिए बेहतर संवाद को आगे बढ़ाया जाए ।    मुख्यमंत्री जी आज यहां लोक भवन में आहूत एक उच्च स्तरीय बैठक में लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे । उन्होंने निर्देश दिए कि लॉकडाउन को पूरी सख्ती के साथ लागू किया जाए । सोशल डिस्टेंसिंग का प्रत्येक दशा में पालन सुनिश्चित कराया जाए । हॉटस्पॉट क्षेत्रों में स्वास्थ्य , सेनिटाइजेशन तथा डोर स्टेप डिलीवरी टीमों के अतिरिक्त कोई अन्य न जाने पाए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राज्य सरकार सभी प्रवासी कामगारों / श्रमिकों की प्रदेश में सुरक्षित वापसी के लिए कार्य कर रही है । इसके लिए सम्बन्धित राज्य सरकारों से ऐसे प्रवासियों की सूची प्राप्त की जाए । यह सुनिश्चित किया जाए कि कोई भी अवैध रूप से प्रदेश में न आने पाए । _ _ _ _ मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिए कि विभिन्न राज्यों से वापस आ रहे प्रवासी कामगारों / श्रमिकों की जनपदवार सूची सम्बन्धित जिलाधिकारी को उपलब्ध कराई जाए । उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में विभिन्न राज्यों से प्रवासी कामगारों / श्रमिकों को लेकर सर्वाधिक ट्रेनें पहुंची हैं । रेल यात्रा के पश्चात प्रवासियों को उनके गृह जनपद पहुंचाने के लिए परिवहन निगम की बस का प्रयोग किया जाए । बाहर से आने वालों के लिए संचालित क्वारंटीन सेन्टर / आश्रय स्थल पर स्वच्छता व सुरक्षा के पर्याप्त प्रबन्ध किए जाएं । यह सुनिश्चित किया जाए कि किसी भी दशा में अव्यवस्था न उत्पन्न हो । कम्युनिटी किचन के माध्यम से गुणवत्तायुक्त एवं भरपेट भोजन की प्रभावी व्यवस्था की जाए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि सभी 75 जनपदों में जिलाधिकारियों को सहयोग प्रदान करने के लिए आई०ए०एस० तथा वरिष्ठ पी0सी0एस0 अधिकारी नामित किए गए हैं । इन अधिकारियों से नियमित संवाद रखा जाए । उन्होंने विदेश से आ रहे लोगों की स्क्रीनिंग कर क्वारंटीन सेन्टर में रखे जाने के निर्देश भी दिए ।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि विभिन्न राज्यों के प्रदेश में निवासित प्रवासियों की सम्बन्धित राज्य में वापसी तथा अन्य राज्यों में फंसे प्रदेश के लोगों की वापसी के लिए भी राज्य सरकार कार्य कर रही हैं । अन्य राज्यों से प्रदेश वापस लौटने के इच्छुक लोगों तथा यहां से सम्बन्धित राज्य को प्रस्थान करने के इच्छुक लोगों के लिए जनसुनवाई पोर्टल पर उपलब्ध कराई गई पंजीयन व्यवस्था का अच्छा रिस्पॉन्स प्राप्त हो रहा है । इस सम्बन्ध में प्रभावी अग्रेतर कार्यवाही किए जाने की आवश्यकता है । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा कोविड एवं नॉन - कोविड अस्पतालों को अलग - अलग स्थापित किया गया । इसी का परिणाम है कि प्रदेश में कोविड - 19 पर प्रभावी नियंत्रण लगा है । उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को कोरोना मरीजों का अध्ययन करते हुए रोगियों की केस हिस्ट्री तैयार करने के निर्देश दिए । उन्होंने कहा कि टेस्टिंग क्षमता में वृद्धि के लिए पूल टेस्टिंग प्रक्रिया को सतत जारी रखा जाए । संक्रमण से सुरक्षा के सभी उपाय अपनाते हुए अस्पतालों में इमरजेंसी सेवाओं का संचालन किया जाए । यह भी सुनिश्चित किया जाए कि सभी जनपदों के चिकित्सालयों में आवश्यक मेडिकल संसाधनों की नियमित उपलब्धता बनी रहे । उन्होंने प्रत्येक जनपद में क्षेत्र चयनित करते हुए सभी उपलब्ध फायर वाहनों से सेनिटाइजेशन कराने के निर्देश दिये । बैठक में अवगत कराया गया कि मुख्यमंत्री जी के एल - 1 , एल - 2 तथा एल - 3 डेडिकेटेड कोविड अस्पतालों की क्षमता विस्तार करके 52 हजार बेड की व्यवस्था किये जाने के निर्देशों के क्रम में आज तक 48 हजार बेड की व्यवस्था की जा चुकी है । कल तक 52 हजार बेड की व्यवस्था कर ली जाएगी । इसके अलावा , प्रत्येक जनपद में वेंटिलेटर युक्त बेड की व्यवस्था भी हो चुकी है । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि निराश्रित गौवंश के संरक्षण के लिए स्थापित गौ आश्रय स्थलों में चारे की व्यवस्था के लिए भूसा बैंक के स्थापना कार्य को गति दी जाए । गौ आश्रय स्थलों में रोजगार की सम्भावनाएं हैं । इसलिए प्रवासी कामगारों / श्रमिकों को रोजगार सुलभ कराने के लिए इन्हें गौ आश्रय स्थलों से जोड़ा जाए । उन्होंने कहा कि उद्योग धन्धों के सुगम संचालन के उद्देश्य से आवश्यकतानुसार सेक्टोरल नीतियों का सरलीकरण पूरी पारदर्शिता के साथ किया जाए । इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश खन्ना , स्वास्थ्य मंत्री श्री जय प्रताप सिंह , स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री अतुल गर्ग , मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी , कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा , अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन , अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी , अपर मुख्य सचिव राजस्व श्रीमती रेणुका कुमार , अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव मित्तल , पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी० अवस्थी , प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद , प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री एस0पी0 गोयल तथा श्री संजय प्रसाद , प्रमुख सचिव एम०एस०एम०ई० श्री नवनीत सहगल , प्रमुख सचिव खाद्य एवं रसद श्रीमती निवेदिता शुक्ला वर्मा , प्रमुख सचिव ग्राम्य विकास एवं पंचायतीराज श्री मनोज कुमार सिंह , प्रमुख सचिव कृषि डॉ0 देवेश चतुर्वेदी , प्रमुख सचिव पशुपालन श्री भुवनेश कुमार , सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार , सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे ।


All migrant workers/workers in Uttar Pradesh should be treated with respect: Chief Minister
Better communication should be pursued for the efficient return of migrant workers/workers to the state and for the efficient return of workers/workers from other states residing in the state
Maximum trains carrying migrant workers/workers from different states arrived in Uttar Pradesh
Nominated to support the District Magistrates in all 75 districts. Regular interaction with IAS and senior PCS officers should be maintained
Instructions for getting sanitation from all available fire vehicles by selecting the area in each district
Covid and non-Covid hospitals were set up separately by the state government and Kovin-19 was effectively controlled in the state.
Regular availability of necessary medical resources should be maintained in all district hospitals.
Instructions to Chief Medical Officers to prepare the case history of patients after studying corona patients
Speed ​​up installation work of husk bank
For the purpose of the smooth operation of industries, simplification of sectoral policies should be done with complete transparency.
Lucknow: 08 May 2020
Chief Minister Yogi Adityanath ji has said that all migrant workers/workers in the state should be treated with respect. Better communication should be pursued for the efficient return of migrant workers/workers to the state and the workers/workers from other states residing in the state. The Chief Minister was reviewing the lockdown system at a high-level meeting convened at Lok Bhawan here today. He directed that the lockdown should be strictly implemented. Social distancing should be ensured in every case. Apart from health, sanitization, and doorstep delivery teams, hotspots are not known. The Chief Minister said that the state government is working for the safe return of all migrant workers/workers in the state. For this, a list of such migrants should be obtained from the respective state governments. It should be ensured that no one comes into the state illegally.  The Chief Minister directed that the district wise list of migrant workers/workers coming back from different states should be made available to the concerned District Magistrate. He said that Uttar Pradesh has the highest number of trains carrying migrant workers/workers from different states. After the rail journey, the Transport Corporation bus should be used to transport the migrants to their home district. Adequate arrangements for hygiene and safety should be made at the quarantine center/shelter site operated from outside. It should be ensured that in any case, there is no clutter. Quality and quality of food should be effectively managed through community kitchens. The Chief Minister said that IAS and senior PCS officers have been nominated in all 75 districts to provide assistance to the District Magistrates. Regular communication should be maintained with these officers. He also instructed people coming from abroad to be screened and placed in the Quarantine Center. The Chief Minister said that the State Government is also working for the return of the migrants residing in the respective states to the respective states and the return of the people trapped in other states. A good response is being received from the registration system provided on the Janusunwai portal for people wishing to return to the state from other states and for those who want to depart from the state. Effective forward action needs to be taken in this regard. The Chief Minister said that Covid and non-Covid hospitals were set up separately by the state government. As a result of this, Covid-19 has been effectively controlled in the state. He instructed the Chief Medical Officers to prepare a case history of the patients while studying the corona patients. He said that the pool testing process should be continued continuously to increase the testing capacity. Emergency services should be operated in hospitals, adopting all measures to protect against infection. It should also be ensured that the regular availability of necessary medical resources is maintained in all district hospitals. He instructed to get sanitization done from all available fire vehicles by selecting the area in each district. It was informed in the meeting that in order to increase the capacity of LK-1, L-2 and L-3 dedicated Covid hospitals to the Chief Minister, 52 thousand beds have been arranged so far, 48 thousand beds have been arranged... By tomorrow 52 thousand beds will be arranged. Apart from this, beds of ventilated beds have also been arranged in each district. The Chief Minister said that the establishment of Bhusha Bank should be expedited for arranging fodder in cow shelters established for the protection of the destitute cow dynasty. There are possibilities of employment in cow shelters. Therefore, to provide employment to migrant workers/laborers, these should be linked to cow shelter sites. He said that sectoral policies should be simplified with full transparency as per the objective of the smooth operation of industry trades. On this occasion, Medical Education Minister Mr. Suresh Khanna, Health Minister Mr. Jai Pratap Singh, Minister of State for Health Mr. Atul Garg, Chief Secretary Mr. RK Tiwari, Agriculture Production Commissioner Mr. Alok Sinha, Infrastructure and Industrial Development Commissioner Mr. Alok Tandon, Additional Chief Secretary Information and Home Shri Avnish Kumar Awasthi, Additional Chief Secretary Revenue Mrs. Renuka Kumar, Additional Chief Secretary Finance Mr. Sanji And Mittal, Director General of Police Mr. Hitesh C. Awasthi, Principal Secretary Health Mr. Amit Mohan Prasad, Principal Secretary Chief Minister Mr. SP Goel and Mr. Sanjay Prasad, Principal Secretary MSME Mr. Navneet Sehgal, Principal Secretary Food and Logistics Mrs. Nivedita Shukla Verma, Principal Secretary Rural Development And Panchayati Raj Mr. Manoj Kumar Singh, Principal Secretary Agriculture Dr. Devesh Chaturvedi, Principal Secretary Animal Husbandry Ri Bhuvnesh Kumar, Chief Secretary Alok Kumar, Director Information other senior officials, including Mr. Shishir.









कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Pages