Breaking News

शुक्रवार, 17 अप्रैल 2020

यूपी: प्रत्येक दशा में यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रदेश में कोई भूखा न रहे -मुख्यमंत्री योगी UP In every case it should be ensured that no one is hungry in the state - Chief Minister Yogi

यूपी: प्रत्येक दशा में यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रदेश में कोई भूखा न रहे  -मुख्यमंत्री योगी  UP In every case it should be ensured that no one is hungry in the state - Chief Minister Yogi    संवाददाता, Journalist Anil Prabhakar.                  www.upviral24.in

प्रत्येक दशा में यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रदेश में कोई भूखा न रहे : मुख्यमंत्री 
आगामी 30 जून तक सार्वजनिक वितरण प्रणाली का सार्वभौमिकरण ( Universalisation of PDS ) करते हुए यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रत्येक जरूरतमंद को राशन अवश्य मिले कम्यनिटी किचेन और शेल्टर होम संचालन की उत्तम व्यवस्था आने वाले समय में भी जारी रखी जाए कालाबाजारी , जमाखोरी मुनाफाखोरी तथा घटतौली के विरुद्ध कार्रवाई निरन्तर जारी रखी जाए संस्थागत क्वारंटीन के बाद होम क्वारंटीन के लिए घर जाने वाले लोगों के स्वास्थ्य की अनिवार्य रूप से जांच की जाए अस्पतालों में संक्रमण से सरक्षा के उपकरण निर्धारित मानक एवं गुणवत्ता के हो रमजान में आवश्यक सामग्री की सुचारु उपलब्धता के लिए आवश्यक प्रबन्ध सुनिश्चित किए जाएं प्रदेश में अध्ययनरत विदेशी तथा किसी अन्य राज्य के विद्यार्थियों की समस्याओं के समाधान के लिए सम्बन्धित जनपद हेतु एक नोडल अधिकारी नामित किया जाए ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में नाला सफाई , मार्ग निर्माण आदि परियोजनाओं की टेण्डर सहित विभिन्न प्रक्रियाएं ऑनलाइन प्रारम्भ हो , जिससे लॉकडाउन के तत्काल बाद कार्य प्रारम्भ हो सके लखनऊ : 17 अप्रैल , 2020 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि प्रत्येक दशा में यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रदेश में कोई भूखा न रहे । कोविड - 19 के संक्रमण से उत्पन्न विशेष परिस्थितियों में गरीबों को राहत पहुंचाने के लिए प्रदेश में आगामी 30 जून , 2020 तक सार्वजनिक वितरण प्रणाली का सार्वभौमिकरण ( Universalisation of PDS ) किया जाए । इसके तहत यह सुनिश्चित किया जाए कि ग्रामीण और शहरी इलाकों में प्रत्येक जरूरतमंद को राशन अवश्य मिले , भले ही उसके पास राशन कार्ड अथवा आधार कार्ड न हो । घुमन्तू समुदायों के लोगों को भी खाद्यान्न उपलब्ध कराया जाए । मुख्यमंत्री जी आज यहां लोक भवन में आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में लॉक डाउन व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे । उन्होंने कम्युनिटी किचेन , डोर स्टेप डिलीवरी तथा खाद्यान्न वितरण की अद्यतन स्थिति की जानकारी प्राप्त की । मुख्यमंत्री जी ने आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई चेन तथा इनकी डोर स्टेप डिलीवरी व्यवस्था पर संतोष व्यक्त करते हुए इसे और बेहतर बनाने के निर्देश दिए । उन्होंने कहा कि रमजान के महीने में आवश्यक सामग्री की सुचारु उपलब्धता के लिए सभी आवश्यक प्रबन्ध सुनिश्चित किए जाएं । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि लॉक डाउन अवधि में प्रदेश सरकार द्वारा व्यापक स्तर पर कम्युनिटी किचेन और शेल्टर होम सफलतापूर्वक संचालित किए जा रहे हैं । कम्युनिटी किचेन और शेल्टर होम संचालन की यह उत्तम व्यवस्था आने वाले समय में भी इसी प्रकार जारी रखी जाए । उन्होंने कहा कि कालाबाजारी , जमाखोरी , मुनाफाखोरी तथा घटतौली के विरुद्ध कार्रवाई निरन्तर जारी रखी जाए । मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिए कि 14 दिन की संस्थागत क्वारंटीन अवधि पूरी करने के बाद शेल्टर होम से होम क्वारंटीन के लिए घर जाने वाले लोगों के स्वास्थ्य की अनिवार्य रूप से जांच की जाए । साथ ही , होम क्वारंटीन के लिए भेजते समय पात्र व्यक्तियों को खाद्यान्न पैकेट भी उपलब्ध कराया जाए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि अस्पतालों में एन - 95 मास्क , पी०पी०ई० सहित संक्रमण से सुरक्षा के सभी उपकरण पर्याप्त मात्रा में अनिवार्य रूप से उपलब्ध रहें । यह सुनिश्चित किया जाए कि यह उपकरण निर्धारित मानक एवं गुणवत्ता  के अनुरूप हों । उत्तर प्रदेश कोविड केयर फण्ड तथा एन०एच०एम0 में उपलब्ध धनराशि से पी०पी0ई0 क्रय किए जाएं । उन्होंने बायोसेफ्टी टेस्टिंग लैब्स की संख्या में वृद्धि के निर्देश दिए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश के विभिन्न जनपदों के शिक्षण संस्थानों में विदेशी तथा अन्य राज्यों के छात्र - छात्राएं अध्ययनरत हैं । इन विद्यार्थियों की समस्याओं के समाधान के लिए प्रत्येक सम्बन्धित जनपद हेतु एक नोडल अधिकारी नामित किया जाए । उन्होंने अन्य राज्यों में रह रहे उत्तर प्रदेश वासियों की समस्याओं के समाधान के लिए प्रदेश सरकार द्वारा नामित नोडल अधिकारियों को सम्बन्धित राज्य में निवासित उत्तर प्रदेश वासियों की समस्याओं का निरन्तर अनुश्रवण कर दिक्कतों को दूर कराने के निर्देश दिए । ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में नाला सफाई , मार्ग निर्माण आदि परियोजनाओं की टेण्डर सहित विभिन्न प्रक्रियाएं ऑनलाइन प्रारम्भ की जाए , जिससे लॉकडाउन के तत्काल बाद कार्य प्रारम्भ हो सके । उन्होंने कहा कि निराश्रित व्यक्ति की मृत्यु होने पर शासन द्वारा अनुमन्य राशि से दिवंगत का अन्तिम संस्कार कराया जाए । इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री श्री जय प्रताप सिंह , मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी , कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा , अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन , अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी , अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव कुमार मित्तल , अपर मुख्य सचिव राजस्व श्रीमती रेणुका कुमार , पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी , प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा डॉ० रजनीश दुबे . प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद , प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री एस०पी० गोयल एवं श्री संजय प्रसाद , सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे ।   

In every case, it should be ensured that no one remains hungry in the state: Chief Minister universalizes public distribution system by June 30
(Universalisation of PDS) to ensure that every needy must get ration. The best system of communication kitchen and shelter home operation is to be continued in the coming time. Action against black marketing, hoarding, profiteering, and gambling should be continued. Institutional Quarantine After the home quarantine, the health of the people going home should be compulsorily examined in the hospitals. Ensure necessary arrangements for smooth availability of essential materials in Ramadan to ensure the safety of prescribed equipment and quality from the training. A Nodal Officer should be nominated for the concerned district to solve the problems of foreigners and students studying in the state. In rural and urban areas, including tendering of projects like sewer cleaning, road construction, etc. Different procedures should be started online so that work can start immediately after lockdown. Lucknow: April 17, 2020, Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath Ji directed the officers to ensure that in every case no one goes hungry in the state. Universalization of public distribution system in the state by June 30, 2020, to provide relief to the poor under special circumstances arising out of Kovid-19 transition.
(Universalisation of PDS). Under this, it should be ensured that every needy in rural and urban areas must get ration even if they do not have a ration card or Aadhaar card. Food should also be made available to the people of nomad communities. The Chief Minister was reviewing the lock-down system at a high-level meeting convened at Lok Bhawan here today. He got information about the latest status of the community kitchen, doorstep delivery, and food distribution. Expressing satisfaction over the supply chain of essential commodities and their doorstep delivery system, the Chief Minister instructed to improve it further. He said that all necessary arrangements should be ensured for the smooth availability of essential materials in the month of Ramadan. The Chief Minister said that community kitchens and shelter homes are being successfully operated on a large scale by the state government during the lockdown period. This excellent system of the community kitchen and shelter home operation should be continued in the future. He said that action should be continued against black marketing, hoarding, profiteering, and ghatauli. The Chief Minister directed that after completing the institutional quarantine period of 14 days, the health of the people going home from shelter home to home quarantine should be compulsorily examined. Besides, food packets should also be made available to eligible persons while sending for home quarantine. The Chief Minister said that all types of equipment of infection protection including N-95 masks, PPEs should be made available in sufficient quantity in hospitals. It should be ensured that these types of equipment conform to the prescribed standards and quality. PPE should be purchased from funds available in Uttar Pradesh Kovid Care Fund and NHM. He instructed to increase the number of Biosafety Testing Labs. The Chief Minister said that students of foreign and other states are studying in educational institutions of different districts of the state. To solve the problems of these students, a Nodal Officer should be nominated for each district concerned. He directed the Nodal Officers nominated by the State Government to solve the problems of Uttar Pradesh residents living in other states and to take care of the problems of Uttar Pradesh residents residing in the respective state. In rural and urban areas, various procedures including tendering of projects like drainage, road construction, etc. should be started online, so that work can be started immediately after lockdown. He said that on the death of a destitute person, the last rites of the deceased should be performed by the government with a permissible amount. On this occasion, Health Minister Shri Jai Pratap Singh, Chief Secretary Mr. RK Tiwari, Agriculture Production Commissioner Mr. Alok Sinha, Infrastructure and Industrial Development Commissioner Mr. Alok Tandon, Additional Chief Secretary Information and Home Mr. Avnish Kumar Awasthi, Additional Chief Secretary Finance Mr. Sanjeev Kumar Mittal, Additional Chief Secretary Revenue Mrs. Renuka Kumar, Director General of Police Mr. Hitesh C. Awasthi, Principal Secretary Medical Education Received Dr 0 Rajneesh Dubey. Principal Secretary Health Shri Amit Mohan Prasad, Principal Secretary Chief Minister Shri SP Goel, and Shri Sanjay Prasad, Information Director Shri Shishir and other senior officers were present.   





कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Pages