Breaking News

बुधवार, 29 अप्रैल 2020

लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया जाए संक्रमण से सुरक्षा के सभी उपाय अपनाए जाएं -मुख्यमंत्री योगी Lockdown should be strictly followed. All measures to protect against infection should be adopted - Chief Minister Yogi

लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया जाए संक्रमण से सुरक्षा के सभी उपाय अपनाए जाएं -मुख्यमंत्री योगी   Lockdown should be strictly followed. All measures to protect against infection should be adopted - Chief Minister Yogi      संवाददाता, Journalist Anil Prabhakar.                 www.upviral24.in

लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया जाए संक्रमण से सुरक्षा के सभी उपाय अपनाए जाएं -मुख्यमंत्री योगी   Lockdown should be strictly followed. All measures to protect against infection should be adopted - Chief Minister Yogi      संवाददाता, Journalist Anil Prabhakar.                 www.upviral24.in

लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया जाए संक्रमण से सुरक्षा के सभी उपाय अपनाए जाएं -मुख्यमंत्री योगी   Lockdown should be strictly followed. All measures to protect against infection should be adopted - Chief Minister Yogi      संवाददाता, Journalist Anil Prabhakar.                 www.upviral24.in

लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया जाए संक्रमण से सुरक्षा के सभी उपाय अपनाए जाएं -मुख्यमंत्री योगी   Lockdown should be strictly followed. All measures to protect against infection should be adopted - Chief Minister Yogi      संवाददाता, Journalist Anil Prabhakar.                 www.upviral24.in

उ0प्र0 लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया जाए : मुख्यमंत्री 
मुख्यमंत्री ने एल - 1 , एल - 2 तथा एल - 3 डेडिकेटेड कोविड अस्पतालों की क्षमता विस्तार करके 52 हजार बेड की व्यवस्था सुनिश्चित करने को कहा
अगले 15 दिन में 25 हजार अतिरिक्त बेड कोविड हॉस्पिटल के रूप में और तैयार किये जाएं 
कोविड अस्पतालों में पूरी तरह प्रोटोकॉल का पालन करते हुए संक्रमण से सुरक्षा के सभी उपाय अपनाए जाएं 
कोविड अस्पतालों में आयुष के चिकित्सकों तथा पैरामेडिक्स का प्रशिक्षण करवाकर उनकी सेवाएं भी प्राप्त करने पर विचार किया जाए 
टेस्टिंग क्षमता को कैसे बढ़ाया जा सकता है , इस सम्बन्ध में वैश्विक स्तर पर उपलब्ध नवीनतम टेक्नोलॉजी को प्राप्त करने पर विचार किया जाए 
स्वास्थ्य कर्मियों के साथ - साथ अन्य कोरोना वॉरियर्स यथा स्वच्छता कर्मी , पुलिस कर्मी एवं राज्य सरकार द्वारा कोविड - 19 से लड़ने हेतु नामित अन्य कार्मिकों को हर हाल में सरक्षा प्रदान की जाए , प्रदेश सरकार शीघ्र ही इस सम्बन्ध में एक अध्यादेश लाएगी 
क्वारंटीन सेन्टर तथा आश्रय स्थल में साफ - सफाई , भोजन तथा सुरक्षा व्यवस्था चुस्त - दुरुस्त रहे 
यह सुनिश्चित किया जाए कि लॉकडाउन के दौरान लोगों को सभी आवश्यक सामग्री सुचारु रूप से प्राप्त हो 
कम्युनिटी सर्विलांस के कार्यों में युवा वॉलेन्टियर्स विशेष रूप से युवक मंगल दल , नेहरू युवा केन्द्र , एन0सी0सी0 तथा एन०एस०एस० के सदस्यों की सेवाएं ली जाएं 
ऑरेंज जोन तथा ग्रीन जोन में औद्योगिक गतिविधियों के सम्बन्ध में औद्योगिक विकास विभाग एक कार्य योजना तैयार करे
लखनऊ : 29 अप्रैल , 2020 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने एल - 1 , एल - 2 तथा एल - 3 डेडिकेटेड कोविड अस्पतालों की क्षमता विस्तार करके 52 हजार बेड की व्यवस्था सुनिश्चित करने को कहा है । उन्होंने अगले 15 दिन में 25 हजार अतिरिक्त बेड कोविड हॉस्पिटल के रूप में और तैयार किये जाने के निर्देश दिये हैं । उन्होंने कहा कि इसके लिए स्वास्थ्य विभाग तथा चिकित्सा शिक्षा विभाग द्वारा युद्धस्तर पर कार्यवाही सुनिश्चित की जाए । इसके अन्तर्गत स्वास्थ्य विभाग द्वारा विभिन्न श्रेणी के कोविड चिकित्सालयों में कुल 17 हजार बेड तथा चिकित्सा शिक्षा विभाग द्वारा कुल 35 हजार बेड तैयार किये जाएंगे । उन्होंने कहा कि यह प्रयास होना चाहिए कि प्रदेश के कोविड अस्पतालों में 01 लाख बेड अगले एक माह में उपलब्ध हो जाए । मुख्यमंत्री जी आज यहां लोक भवन में आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे । उन्होंने कहा कि क्षमता विस्तार की इस कार्यवाही के अन्तर्गत स्वास्थ्य विभाग द्वारा एल - 1 अस्पतालों में 10 हजार बेड , एल - 2 अस्पतालों में ऑक्सीजन की सुविधा सहित 05 हजार बेड तथा एल - 3 अस्पतालों में वेंटिलेटर युक्त 02 हजार बेड की व्यवस्था की जाए । इसी क्रम में चिकित्सा शिक्षा विभाग द्वारा एल - 1 श्रेणी के कोविड चिकित्सालयों में 20 हजार बेड , एल - 2 अस्पतालों में ऑक्सीजन की सुविधा सहित 10 हजार बेड तथा एल - 3 अस्पतालों में वेंटिलेटर के साथ 05 हजार बेड की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोविड अस्पतालों में पूरी तरह प्रोटोकॉल का पालन करते हुए संक्रमण से सुरक्षा के सभी उपाय अपनाए जाएं । कोरोना के उपचार में लगी चिकित्सा टीम को हर हाल में मेडिकल इन्फेक्शन से बचाया जाए । कोरोना से जंग में मेडिकल टीम को सुरक्षित रखना अत्यन्त आवश्यक है । इसके लिए कोविड अस्पतालों में पर्याप्त संख्या में पी०पी0ई0 किट्स , एन - 95 मास्क की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए । साथ ही अस्पतालों की साफ - सफाई सुनिश्चित करते हुए लगातार सेनेटाइजेशन किया जाए । उन्होंने कहा कि कोविड अस्पतालों में आयुष के चिकित्सकों तथा पैरामेडिक्स का प्रशिक्षण करवाकर उनकी सेवाएं भी प्राप्त करने पर विचार किया जाए । मुख्यमंत्री जी ने व्यापक स्तर पर टेस्टिंग की व्यवस्था सुनिश्चित किये जाने के निर्देश दिये । उन्होंने कहा कि टेस्टिंग क्षमता में वृद्धि के लिए पूल टेस्टिंग को बढ़ावा दिया जाए । टेस्टिंग क्षमता को कैसे बढ़ाया जा सकता है . इस सम्बन्ध में वैश्विक स्तर पर उपलब्ध नवीनतम टेक्नोलॉजी को प्राप्त करने पर विचार किया जाए । मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये कि लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया जाए । लॉकडाउन का उल्लंघन अथवा दुरुपयोग करने वालों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की  जाए । समस्त गतिविधियों में प्रत्येक दशा में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जाए । यह सुनिश्चित किया जाए कि लॉकडाउन के दौरान लोगों को सभी आवश्यक सामग्री सुचारु रूप से प्राप्त हो । कालाबाजारी , जमाखोरी तथा घटतौली करने वालों के खिलाफ कार्रवाई लगातार जारी रखी जाए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कम्युनिटी सर्विलांस के कार्यों में युवा वॉलेन्टियर्स विशेष रूप से युवक मंगल दल , नेहरू युवा केन्द्र , एन0सी0सी0 तथा एन०एस०एस0 के सदस्यों की सेवाएं ली जाएं । क्वारंटीन सेन्टर तथा आश्रय स्थल में रखे गये लोगों के लिए भोजन तैयार करने में महिला स्वयं सहायता समूहों को जोड़ा जाए । यह सुनिश्चित किया जाए कि क्वारंटीन सेन्टर तथा आश्रय स्थल में साफ - सफाई , भोजन तथा सुरक्षा व्यवस्था चुस्त - दुरुस्त रहे । क्वारंटीन सेन्टर , शेल्टर होम तथा कम्युनिटी किचन के संचालन से युवा वॉलेन्टियर्स तथा आंगनबाड़ी कर्मियों को जोड़ा जाए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोविड - 19 के इलाज में लगे स्वास्थ्य कर्मियों पर हमला करने वालों को कड़ी सजा दिलाने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा महामारी रोग अधिनियम - 1897 में संशोधन के लिए अध्यादेश लाया गया है । इस अध्यादेश के लागू होने से कोरोना महामारी के दौरान स्वास्थ्य कर्मियों पर हमला करने वालों के खिलाफ अब प्रभावी कार्रवाई की जा सकेगी । नये कानून से स्वास्थ्य कर्मियों के मनोबल में वृद्धि होगी । उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों के साथ - साथ अन्य कोरोना वॉरियर्स यथा स्वच्छता कर्मी , पुलिस कर्मी एवं राज्य सरकार द्वारा कोविड - 19 से लड़ने हेतु नामित अन्य कार्मिकों को हर हाल में सुरक्षा प्रदान की जाए । इस सम्बन्ध में प्रदेश सरकार शीघ्र ही एक अध्यादेश लाएगी । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि परिवहन निगम ने अत्यन्त सराहनीय कार्य करते हुए कोटा से प्रदेश के सभी छात्र - छात्राओं को सुरक्षित उनके गन्तव्य तक पहुंचाया । कोविड - 19 के दौरान विभिन्न जनपदों में भी अच्छे कार्य किये जा रहे हैं । ऐसे उल्लेखनीय कार्यों पर आधारित सक्सेज स्टोरी का प्रकाशन कराया जाए । मुख्यमंत्री जी ने विभिन्न राज्यों के लिए नोडल अधिकारियों के कार्यों की जानकारी प्राप्त करते हुए निर्देश दिये कि समस्त नोडल अधिकारी फोन पर उपलब्ध रहते हुए लोगों की दिक्कतों को सुनें एवं उनका समाधान कराएं । उन्होंने कहा कि संस्थागत क्वारंटीन पूरी कर होम क्वारंटीन के लिए घर जाने वाले प्रवासी श्रमिकों को खाद्यान्न किट उपलब्ध कराया जाए । यह सुनिश्चित किया जाए कि भरण - पोषण भत्ता सभी पात्र लोगों को उपलब्ध हो जाए । मनरेगा , ओ0डी0ओ0पी0 , विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना तथा महिला स्वयं सहायता समूह से प्रवासी श्रमिकों को जोड़कर उन्हें रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए कार्य योजना तैयार की जाए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि रेड जोन को ऑरेंज जोन और फिर ग्रीन जोन में परिवर्तित किया जाना है । ऑरेंज जोन तथा ग्रीन जोन में औद्योगिक गतिविधियों के सम्बन्ध में औद्योगिक विकास विभाग एक कार्य योजना तैयार करे । उन्होंने कहा कि कोविड - 19 महामारी के वर्तमान परिदृश्य को ध्यान में रखते हुए सेक्टोरल नीतियों में आवश्यकतानुसार संशोधन के लिए कार्य योजना बनायी जाए । यह सुनिशिचित किया जाए कि निर्माण इकाइयों में सेनेटाइजिंग की अच्छी व्यवस्था हो तथा श्रमिकों के लिए सम्बन्धित इकाई द्वारा फूडिंग - लॉजिंग का प्रबन्ध भी हो । इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश खन्ना , स्वास्थ्य मंत्री श्री जय प्रताप सिंह , मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी , कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा , अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन , अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी , अपर मुख्य सचिव राजस्व श्रीमती रेणुका कुमार , अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव मित्तल , पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी , प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा डॉ० रजनीश दुबे , प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद , प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री एस0पी0 गोयल एवं श्री संजय प्रसाद , प्रमुख सचिव एम०एस०एम०ई० श्री नवनीत सहगल , प्रमुख सचिव ग्राम्य विकास एवं पंचायतीराज श्री मनोज कुमार सिंह , प्रमुख सचिव खाद एवं रसद श्रीमती निवेदिता शुक्ला वर्मा , प्रमुख सचिव कृषि डॉ0 देवेश चतुर्वेदी , प्रमुख सचिव पशुपालन श्री भुवनेश कुमार , सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार , सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे ।

Uttar Pradesh lockdown should be strictly followed: Chief Minister
Chief Minister asked to expand the capacity of L-1, L-2 and L-3 dedicated Covid hospitals to ensure the arrangement of 52 thousand beds
In the next 15 days, 25 thousand additional beds should be prepared in the form of Covid Hospital.
All protocol protection measures should be adopted by the following protocol completely in Covid hospitals.
Training of AYUSH physicians and paramedics in Covid hospitals should also be considered to get their services.
With regard to how testing capacity can be increased, consider getting the latest technology available globally.
Health workers, as well as other corona warriors such as sanitation workers, police personnel and other personnel designated by the state government to fight Covid-19, should be provided protection in any case, the state government will soon bring an ordinance in this regard.
Cleanliness, food, and security in the quarantine center and shelter site - be well-maintained
Ensure that people get all the required materials smoothly during a lockdown
Youth volunteers should be engaged in community surveillance work, especially the services of the members of Youth Mangal Dal, Nehru Yuva Kendra, NCC and NSS
In relation to industrial activities in Orange Zone and Green Zone, Department of Industrial Development should prepare an action plan
Lucknow: April 29, 2020, Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath Ji has asked to ensure the arrangement of 52 thousand beds by expanding the capacity of L-1, L-2 and L-3 dedicated Covid hospitals. He has given instructions to prepare 25 thousand additional beds in the next 15 days as Covid Hospital. He said that this action should be ensured by the Health Department and Medical Education Department on a war footing. Under this, a total of 17 thousand beds will be prepared by the Health Department in various categories of Covid Hospitals and a total of 35 thousand beds by the Medical Education Department. He said that efforts should be made that 01 lakh beds should be available in Covid hospitals of the state in the next month. The Chief Minister was reviewing the lockdown system at a high-level meeting convened at Lok Bhawan here today. He said that under this act of capacity expansion, the health department should arrange 10 thousand beds in L-1 hospitals, 05 thousand beds with oxygen facility in L-2 hospitals, and 02 thousand beds with ventilators in L-3 hospitals. In this order, the Department of Medical Education should ensure the provision of 20 thousand beds in L-1 category Covid hospitals, 10 thousand beds with oxygen facility in L-2 hospitals, and 05 thousand beds with ventilators in L-3 hospitals. The Chief Minister said that by the following protocol completely in Covid hospitals, all measures to protect against infection should be adopted. The medical team engaged in the treatment of corona should be protected from medical infection. It is very important to keep the medical team safe in the battle with Corona. For this, an adequate number of PPE kits, N-95 masks should be ensured in Covid hospitals. Also, sanitation should be done continuously by ensuring the cleanliness of hospitals. He said that by training AYUSH physicians and paramedics in Covid hospitals, their services should also be considered. The Chief Minister instructed to ensure a comprehensive testing system. He said that pool testing should be encouraged to increase testing capacity. How to increase testing efficiency In this regard, the latest technology available globally should be considered. The Chief Minister directed that the lockdown should be strictly followed. Strict action was taken against those who violate or misuse lockdown  Go Social distancing should be followed in all conditions in all activities. It should be ensured that people get all the required materials smoothly during the lockdown. Action should be continued against black marketing, hoarding, and fraudsters. The Chief Minister said that youth volunteers, especially the members of Youth Mangal Dal, Nehru Yuva Kendra, NCC, and NSS should be engaged in community surveillance work. Women self-help groups should be added to prepare food for the people housed in the quarantine center and shelter. It should be ensured that cleanliness, food, and security in the quarantine center and shelter are maintained properly. Youth volunteers and Anganwadi workers should be linked with the operation of the Quarantine Center, Shelter Home, and Community Kitchen. The Chief Minister said that an ordinance has been brought to amend the Epidemic Diseases Act - 1897 by the Central Government to provide stringent punishment to those who attack health workers engaged in the treatment of Covid-19. With the implementation of this ordinance, effective action can now be taken against those who attacked health workers during the Corona epidemic. The new law will increase the morale of health workers. He said that along with health workers, other Corona Warriors like Sanitation personnel, Police personnel, and other personnel designated by the State Government to fight Covid-19 should be provided security in every situation. The state government will soon bring an ordinance in this regard. The Chief Minister said that the Transport Corporation, doing extremely commendable work, took all the students of Kota from the quota to their destination safely. During Covid-19, good works are also being done in different districts. A success story based on such notable works should be published. The Chief Minister, while getting information about the works of the nodal officers for various states, gave instructions that all the nodal officers should listen to the problems of the people while being available on the phone and get them resolved. He said that after completing institutional quarantine, food grains kits should be made available to migrant workers going home for home quarantine. It should be ensured that the maintenance allowance is available to all eligible people. The work plan should be prepared for providing employment opportunities to migrant workers by joining MNREGA, ODOP, Vishwakarma Shram Samman Yojana, and women, self-help groups. The Chief Minister said that the Red Zone is to be converted into Orange Zone and then Green Zone. In relation to industrial activities in the Orange Zone and Green Zone, the Department of Industrial Development should prepare an action plan. He said that keeping in view the current scenario of the Covid-19 epidemic, an action plan should be prepared for the amendment of sectoral policies as necessary. It should be ensured that there is good sanitation in the manufacturing units and there is also a provision of food-lodging for the workers by the concerned unit. On this occasion, Medical Education Minister Mr. Suresh Khanna, Health Minister Mr. Jai Pratap Singh, Chief Secretary Mr. RK Tiwari, Agriculture Production Commissioner Mr. Alok Sinha, Infrastructure and Industrial Development Commissioner Mr. Alok Tandon, Additional Chief Secretary Information and Home Mr. Avnish Kumar Awasthi, Additional Chief Secretary Revenue Mrs. Renuka Kumar, Additional Chief Secretary Finance Mr. Sanjeev Mittal, Director General of Police Mr. Hitesh S 0 Awasthi, Principal Secretary Medical Education Dr. Rajneesh Dubey, Principal Secretary Health Mr. Amit Mohan Prasad, Principal Secretary Chief Minister Mr. SP Goel and Mr. Sanjay Prasad, Principal Secretary MSME Mr. Navneet Sehgal, Principal Secretary Rural Development and Panchayati Raj Mr. Manoj Kumar Singh, Principal Secretary Fertilizer and Logistics Smt Nivedita Shukla Verma, Principal Secretary Agriculture Dr. Devesh Chaturvedi, Principal Secretary Animal Husbandry Mr Bhuvnesh Kumar, Chief Secretary Alok Kumar, Director Information other senior officials, including Mr. Shishir.







कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Pages