Breaking News

रविवार, 19 अप्रैल 2020

मुख्यमंत्री ने प्रदेश के जिलाधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से वार्ता की Chief Minister talks to district collectors through video conferencing

                                             
  मुख्यमंत्री ने प्रदेश के जिलाधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से वार्ता की    Chief Minister talks to district collectors through video conferencing

मुख्यमंत्री ने प्रदेश के जिलाधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से वार्ता की सभी जनपदों के जिलाधिकारी अपने - अपने जनपदों में दिनांक 20 अप्रैल , 2020 से लॉक डाउन के दौरान गतिविधियों में छूट के सम्बन्ध में स्थानीय स्तर पर परिस्थितियों को देखते हुए निर्णय लें : मुख्यमंत्री 19 ऐसे संवेदनशील जनपदों जिनमें 10 या उससे अधिक के कोरोना पॉजिटिव केसेज पाए गए हैं , के भी जिलाधिकारी सजगता और सतर्कता के आधार पर निर्णय लें यह निर्णय हॉट स्पॉट वाले क्षेत्रों में किसी छूट के लिए लागू नहीं होगा हॉट स्पॉट वाले क्षेत्रों में मेडिकल , स्वच्छता तथा डोर स्टेप डिलीवरी सम्बन्धी गतिविधियां ही संचालित की जा सकेंगी लॉक डाउन का शत - प्रतिशत पालन सुनिश्चित किया जाए जनपद स्तर पर कुछ औद्योगिक गतिविधियों में छूट दिए जाने के सम्बन्ध में जिलाधिकारी , मण्डलायुक्त , डी0आई0जी0 , आई0जी0 , ए0डी0जी0 , एस०पी० , एस०एस०पी० , जिला उद्योग केन्द्र के अधिकारी , उद्यमी आदि परस्पर विचार - विमर्श कर निर्णय लें हॉट स्पॉट के साथ ही अन्य सभी स्थलों को व्यापक स्तर पर सैनेटाइज किया जाए लखनऊ : 19 अप्रैल , 2020 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा है कि सभी जनपदों के जिलाधिकारी अपने - अपने जनपदों में कल दिनांक 20 अप्रैल , 2020 से लॉक डाउन के दौरान गतिविधियों में छूट के सम्बन्ध में स्थानीय स्तर पर परिस्थितियों को देखते हुए निर्णय लें और उनसे शासन को अवगत कराएं । उन्होंने कहा कि 19 ऐसे संवेदनशील जनपदों जिनमें 10 या उससे अधिक के कोरोना पॉजिटिव केसेज पाए गए हैं , के भी जिलाधिकारी सजगता और सतर्कता के आधार पर निर्णय लें । यह निर्णय हॉट स्पॉट वाले क्षेत्रों में किसी छूट के लिए लागू नहीं होगा । हॉट स्पॉट वाले क्षेत्रों में मेडिकल , स्वच्छता तथा डोर स्टेप डिलीवरी सम्बन्धी गतिविधियां ही संचालित की जा सकेंगी । अन्य कोई भी नई गतिविधि नहीं होगी । उन्होंने कहा कि लॉक डाउन की अवधि तक उसका शत - प्रतिशत पालन सुनिश्चित किया जाए । इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही व शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी । मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर प्रदेश के जिलाधिकारियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से दिशा - निर्देश दे रहे थे । उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार से सोशल डिस्टेसिंग और लॉक डाउन के मानकों का उल्लंघन न हो । जनपद स्तर पर कुछ औद्योगिक गतिविधियों में छूट दिए जाने के सम्बन्ध में जिलाधिकारी , मण्डलायुक्त , डी०आई0जी0 , आई0जी0 , ए0डी0जी0 , एस०पी० , एस०एस०पी0 , जिला उद्योग केन्द्र के अधिकारी , उद्यमी आदि परस्पर विचार - विमर्श कर निर्णय लें । भीड़ व अराजकता की स्थिति न पैदा होने पाए । एक्सप्रेस - वे , हाईवे तथा अन्य निर्माण के सम्बन्ध में स्थानीय स्तर पर कार्यवाही सुनिश्चित की जाए । उन्होंने कहा कि किसानों को उनकी फसल का हर हाल में न्यूनतम समर्थन मूल्य मिले । शासन द्वारा किसानों की उपज को क्रय केन्द्रों के अलावा , उनके खेतों पर भी खरीदने की व्यवस्था की जाए । हॉट स्पॉट के साथ ही अन्य सभी स्थलों को व्यापक स्तर पर सैनेटाइज किया जाए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि मार्च के अन्तिम दिनों में बाहर से प्रदेश में आए प्रवासी मजदूरों को भी उनके घरों में पहुंचाने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए । यह सभी क्वारण्टीन की अवधि पूर्ण कर चुके हैं किन्तु फिर भी उन्हें होम क्वारण्टीन किया जाए । उन्होंने कहा कि जनपद स्तर पर अलग - अलग टीम गठित कर प्रत्येक टीम को अलग जिम्मेदारी दी जाए और उसका प्रभावी अनुश्रवण किया जाए । निराश्रित गोवश के सम्बन्ध में भी कार्यवाही करते हुए उनके चारे आदि की व्यवस्था सुनिश्चित हो । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोटा में अध्ययनरत लगभग 08 हजार छात्र - छात्राओं को राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में वापस लाया गया है । इन सभी के होम क्वारण्टीन की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए । कोई भी नया व्यक्ति यदि बाहर से आता है , तो उसके मवमेण्ट पर नजर रखते हुए व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं । हर गांव व कस्बे में वॉलण्टियर्स की सहायता से यह कार्य किया जाए । यह वॉलण्टियर्स युवक मंगल दल , एन0सी0सी0 , एन०एस०एस० , ग्राम चौकीदार , नेहरू युवा केन्द्र आदि के हो सकते हैं । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि बाहर से आए व्यक्ति को हर हाल में क्वारण्टीन किया जाए । यह देखा जाए कि मण्डी , बैंक , राशन व दवा की दुकान आदि पर भी सोशल डिस्टेंसिंग में किसी भी प्रकार की कोताही न हो । उन्होंने कहा कि मेडिकल इंफेक्शन को भी रोका जाना सुनिश्चित किया जाए । मीडिया ब्रीफिंग शासन स्तर पर नियमित रूप से प्रतिदिन की जा रही है । यदि स्थानीय स्तर पर इसकी आवश्यकता होती है , तो सावधानी बरतते हुए पूरी तथ्यपरक जानकारी और तैयारी के साथ मीडिया को अवगत कराया जाए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आगामी 23 अप्रैल , 2020 से रमजान माह प्रारम्भ होने जा रहा है । इस सम्बन्ध में भी धर्मगुरुओं , मौलवियों व मौलानाओं से संवाद स्थापित करते हुए यह सुनिश्चित किया जाए कि कहीं भी भीड़ एकत्रित न होने पाए । सभी धार्मिक कार्य घर से ही सम्पन्न किए जाएं । वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी , कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा , अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना श्री अवनीश कुमार अवस्थी , पुलिस महानिदेशक श्री हितेश चन्द्र अवस्थी , अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव कुमार मित्तल , प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री एस०पी० गोयल एवं श्री संजय प्रसाद , प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद , सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे ।

The Chief Minister held talks with the District Magistrates of the State through video conferencing. The District Magistrates of all the districts should decide in their respective districts regarding relaxation in activities during lock-down from April 20, 2020: Chief Minister 19 District magistrates of sensitive districts in which 10 or more Corona positive cases have been found Decide on the basis of vigilance. This decision will not be applicable for any relaxation in hot spot areas, only medical, sanitation, and doorstep delivery related activities can be conducted in hot spot areas. 100% compliance of lockdown should be ensured in the district. Regarding the exemption in some industrial activities at the level, the Collector, Mandalayukta, D.I.G., I.G., A.D.G., A. Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath Ji has said to be extensively sanitized along with hot spots as well as hot spots along with the decision of mutual consultation by the officers of the District Industries Center, SP, SSP, etc. That the District Magistrates of all the districts will have the local level in their respective districts with respect to relaxation of activities during lockdown from April 20, 2020. Circumstances make sure to see the decision and let them rule. He said that the District Magistrates of 19 such sensitive districts, in which 10 or more Corona positive cases have been found, should make a decision based on alertness and vigilance. This decision will not apply to any exemption in areas with hot spots. Medical, hygiene and doorstep delivery related activities can only be conducted in hot spot areas. There will be no other new activity. He said that 100 percent adherence should be ensured till the period of lockdown. No carelessness and laxity will be tolerated in this. The Chief Minister was giving directions to the District Magistrates of the state through video conferencing at his official residence here today. He said that social distancing and lockdown standards are not violated in any way. The District Magistrate, Divisional Commissioner, DIG, IG, ADG, SP, SSP, officers of District Industries Center, entrepreneurs, etc. should take decisions in consultation with some industrial activities at district level. The situation of crowd and chaos should not arise. Action should be ensured at the local level in relation to expressways, highways and other construction. He said that farmers should get the minimum support price of their crop in any case. Apart from the purchasing centers, arrangements should be made by the government to purchase the products of the farmers in their fields as well. Along with the hot spots, all other sites should be widely sanitized. The Chief Minister said that the process of sending migrant laborers from outside to their homes should also be ensured in the last days of March. All these have completed the period of Quarantine, but still they should be quarantined home. He said that separate teams should be constituted at district level and each team should be given different responsibilities and its monitoring should be done effectively. While taking action in respect of destitute Govash, the arrangement of their fodder etc. should be ensured. The Chief Minister said that about 08 thousand students studying in Kota have been brought back to the state by the state government. Arrangement for the home quarantine of all these should be ensured. If any new person comes from outside, arrangements should be ensured keeping an eye on his mind. In every village and town, this work should be done with the help of volunteers. These volunteers can be from the Youth Mangal Dal, NCC, NSS, Village Chowkidar, Nehru Yuva Kendra, etc. The Chief Minister said that the person from outside should be quarantined at all costs. It should be seen that there should not be any kind of social distancing in Mandi, bank, ration and drug store etc. He said that medical infections should also be prevented. Media briefings are being held regularly daily at the governance level. If it is required at the local level, the media should be informed with full factual information and preparation, taking precautions. Chief Minister said that Ramadan month is going to start from April 23, 2020. In this regard, while communicating with the religious leaders, maulvis and maulanas, it should be ensured that no crowd can be gathered anywhere. All religious works should be done from home. During the video conferencing, Chief Secretary Mr. RK Tiwari, Agriculture Production Commissioner Mr. Alok Sinha, Additional Chief Secretary Home, and Information Mr. Avnish Kumar Awasthi, Director General of Police Mr. Hitesh Chandra Awasthi, Additional Chief Secretary Finance Mr. Sanjeev Kumar Mittal, Principal Secretary Chief Minister Mr. S.P. Goyal And Mr. Sanjay Prasad, Principal Secretary Medical and Health Mr. Amit Mohan Prasad, Director of Information Rei Shishir and other senior officials were present.


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Pages