Breaking News

शनिवार, 25 अप्रैल 2020

डाॅक्टरों सहित सभी चिकित्सा कर्मियों को प्रत्येक दशा में कोविड-19 के संक्रमण से सुरक्षित रखना आवश्यक: मुख्यमंत्री योगी It is necessary to protect all medical staff including doctors from infection of Covid-19 in every case: Chief Minister Yogi

डाॅक्टरों सहित सभी चिकित्सा कर्मियों को प्रत्येक दशा में कोविड-19 के संक्रमण से सुरक्षित रखना आवश्यक: मुख्यमंत्री योगी      It is necessary to protect all medical staff including doctors from infection of Covid-19 in every case: Chief Minister Yogi           संवाददाता, Journalist Anil Prabhakar.                 www.upviral24.in

उ0प्र0 डॉक्टरों सहित सभी चिकित्सा कर्मियों को प्रत्येक दशा में कोविड - 19 के संक्रमण से सुरक्षित रखना आवश्यक : मुख्यमंत्री मेडिकल इंफेक्शन की रोकथाम के लिए डेडिकेटेड टीम गठित करने के निर्देश कोविड अस्पतालों की श्रृंखला तैयार करने , चिकित्सालयों में ऑक्सीजन की नियमित व सुचारू आपूर्ति बनाये रखने तथा ट्रेनिंग को और गति देने पर बल प्रत्येक जनपद में एक अतिरिक्त सी०एच०सी० को एल - 1 अस्पताल के तौर पर तैयार किया जाए लॉकडाउन का शत - प्रतिशत पालन कराते हुए सोशल डिस्टेंसिंग पर विशेष ध्यान दिया जाए जनपद स्तर पर अलग - अलग कार्यों के लिए अधिकारी नामित किये जाएं किसी भी उद्योग के संचालन से यदि संक्रमण फैलने की जरा भी सम्भावना हो तो उसे संचालन की अनुमति न दी जाए मण्डियों तथा क्रय केन्द्रों पर भीड़ एकत्र न हो तथा सोशल डिस्टेंसिंग प्रभावी ढंग से लागू रहे मण्डी तथा क्रय केन्द्रों के माध्यम से अब तक 50 लाख कुन्तल से अधिक गेहूं की खरीद लखनऊ : 25 अप्रैल , 2020 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने मेडिकल इंफेक्शन को रोकने के लिए बेहतर तथा प्रभावी प्रयास किये जाने पर बल दिया है । उन्होंने कहा कि डॉक्टरों सहित सभी चिकित्सा कर्मियों को प्रत्येक दशा में कोविड - 19 के संक्रमण से सुरक्षित रखना आवश्यक है । उन्होंने मेडिकल इंफेक्शन की रोकथाम के लिए डेडिकेटेड टीम गठित करने के निर्देश दिये हैं । मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर आयोजित एक बैठक में लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे । उन्होंने कहा कि मेडिकल इंफेक्शन को रोकने के लिए राज्य मुख्यालय तथा जनपदों में टीम बनायी जाए । यह टीम सरकारी और निजी सभी अस्पतालों में मेडिकल इंफेक्शन पर फोकस करते हुए इसे रोकने के लिए कार्य करें । उन्होंने स्वास्थ्य विभाग तथा चिकित्सा शिक्षा विभाग को प्राथमिकता पर ऐसी टीमों का गठन करने के निर्देश दिये हैं । मुख्यमंत्री जी ने कोविड अस्पतालों की श्रृंखला तैयार करने , चिकित्सालयों में ऑक्सीजन की नियमित व सुचारू आपूर्ति बनाये रखने तथा ट्रेनिंग को और गति देने पर बल दिया । उन्होंने कहा कि मेडिकल शिक्षा के विद्यार्थियों तथा आयुष आदि चिकित्सकों की भी मेडिकल ट्रेनिंग करायी जाए । उन्होंने एल - 1 , एल - 2 तथा एल - 3 अस्पतालों की संख्या में वृद्धि करने के निर्देश देते हुए कहा कि प्रत्येक जनपद में एक अतिरिक्त सी०एच०सी० को एल - 1 अस्पताल के तौर पर तैयार किया जाए । इस कार्य को समयबद्ध ढंग से सुनिश्चित कराने के लिए एक अधिकारी को नामित किया जाए । मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये कि लॉकडाउन का शत - प्रतिशत पालन कराते हुए सोशल डिस्टेंसिंग पर विशेष ध्यान दिया जाए । पेट्रोलिंग को बढ़ाया जाए । अवैध शराब के विरुद्ध कार्रवाई निरन्तर जारी रखी जाए । उन्होंने कहा कि रमजान के दृष्टिगत पूरी सावधानी व सतर्कता बरती जाए । सोशल मीडिया पर नजर रखी जाए । उन्होंने संक्रमण की दृष्टि से जनपद संतकबीरनगर की बढ़ी हुई संवेदनशीलता के मद्देनजर , मण्डलायुक्त बस्ती , पुलिस महानिरीक्षक बस्ती तथा स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी को नोडल अधिकारी बनाने के निर्देश दिये । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि सप्लाई चैन से जुड़े लोगों की टेस्टिंग करायी जाए । यह सुनिश्चित किया जाए कि क्वारंटीन सेन्टर तथा शेल्टर होम में हर हाल में सोशल डिस्टेंसिंग अपनायी जाए । शेल्टर होम में क्वारंटीन अवधि पूरी करने के बाद होम क्वारंटीन के लिए घर जाने वाले श्रमिकों को राशन की किट व एक हजार रुपये का भरण - पोषण भत्ता दिया जाए । मुख्यमंत्री जी ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि जनपद स्तर पर किये जा रहे कार्यों की प्रगति की निरन्तर जानकारी प्राप्त करते रहें । उन्होंने कहा कि जनपद स्तर पर अलग - अलग कार्यों के लिए अधिकारी नामित किये जाएं , जिससे कार्यों का सुचारू संचालन हो और इनके लिए जिम्मेदार लोगों की जवाबदेही भी तय की जा सके । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रवासी श्रमिकों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए प्रदेश सरकार ने एक समिति गठित की है । प्रवासी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराना एक चुनौतीपूर्ण कार्य है , जिसे कार्य योजना बनाकर सफलतापूर्वक लागू किया जा सकता है । उन्होंने कहा कि तालाब व चेक डैम आदि से सम्बन्धित कार्य शुरू कराये जाए । इन कार्यों में प्रवासी मजदूरों को भी लगाया जाए । मुख्यमंत्री जी ने अन्य राज्यों में 14 दिन का क्वारंटीन पूरा कर चुके उत्तर प्रदेश के श्रमिकों , कामगारों तथा मजदूरों को चरणबद्ध तरीके से वापस लाए जाने  के सम्बन्ध में भी विचार - विमर्श किया । उन्होंने बड़ी संख्या में शेल्टर होम को तैयार किये जाने के निर्देश देते हुए कहा कि इनमें पब्लिक एड्रेस सिस्टम लगाया जाए , भोजन एवं शौचालय की सुचारू व्यवस्था की जाए । उन्होंने कम्युनिटी किचन को _ _ और प्रभावी बनाये जाने के निर्देश दिये । मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये कि किसी भी उद्योग के संचालन से यदि संक्रमण फैलने की जरा भी सम्भावना हो तो उसे संचालन की अनुमति न दी जाए । उन्होंने कहा कि एम०एस०एम0ई0 के संचालन को बढ़ावा दिया जाए , क्योंकि इनके माध्यम से इंफेक्शन बढ़ने की सम्भावना नहीं है । इस सेक्टर के उद्योगों के कच्चे माल की आपूर्ति के लिए सप्लाई चैन बनायी जाए । उन्होंने प्रमुख सचिव एम०एस०एम०ई० को पी0पी0ई0 किट्स की आपूर्ति व्यवस्था को बढ़ाने के निर्देश भी दिये । मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये कि कृषि विभाग द्वारा इस बात का व्यापक प्रचार - प्रसार किया जाए कि प्रदेश में कृषि उपकरणों की कमी नहीं है । किसान समय से फसल कटवाते हुए अपनी उपज को क्रय केन्द्र पर ले जाएं । प्रदेश में पर्याप्त संख्या में क्रय केन्द्र स्थापित किये गये हैं । उन्होंने निर्देश दिये कि यह सुनिश्चित किया जाए कि मण्डियों तथा क्रय केन्द्रों पर भीड़ एकत्र न हो तथा सोशल डिस्टेंसिंग प्रभावी ढंग से लागू रहे । इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि मण्डी तथा क्रय केन्द्रों के माध्यम से अब तक 50 लाख कुन्तल से अधिक गेहूं की खरीद हो चुकी है । इस अवसर पर मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी , कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा , अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन , अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी , अपर मुख्य सचिव राजस्य श्रीमती रेणुका कुमार , पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी , प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा डॉ0 रजनीश दुबे , प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद , प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री एस0पी0 गोयल एवं श्री संजय प्रसाद , प्रमुख सचिव एम०एस०एम0ई0 श्री नवनीत सहगल , प्रमुख सचिव ग्राम्य विकास एवं पंचायतीराज श्री मनोज कुमार सिंह , प्रमुख सचिव खाद एवं रसद श्रीमती निवेदिता शुक्ला वर्मा , प्रमुख सचिव कृषि डॉ0 देवेश चतुर्वेदी , प्रमुख सचिव पशुपालन श्री भुवनेश कुमार , सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।   

It is necessary to keep all medical personnel including UP doctors safe from infection of Covid-19 in every condition: Instructions to set up a dedicated team for the prevention of the Chief Minister's medical infection. And to give more speed to training, an additional CHC in each district will be given L-1 Hospital In order to prepare 100% of the lockdown, special attention should be paid to social distancing at the district level, officers should be nominated for different tasks at the district level if there is any possibility of spreading the infection from the operation of any industry. It should not be allowed to operate, crowds should not be gathered at the mandis and purchasing centers and social distancing is effectively implemented. Through far procured over 50 lakh quintal wheat Lucknow April 25, 2020, Chief Adityanath Uttar Pradesh Minister emphasized on being better and effective efforts to prevent medical infection. He said that it is necessary to protect all medical personnel including doctors from infection of Covid-19 in every case. He has given instructions to set up a dedicated team for the prevention of medical infection. The Chief Minister was reviewing the lockdown system at a meeting held at his government residence here today. He said that teams should be formed at state headquarters and districts to prevent medical infection. This team should work to prevent this by focusing on medical infections in all government and private hospitals. He has directed the Health Department and Medical Education Department to set up such teams on priority. The Chief Minister laid emphasis on preparing a series of Covid hospitals, maintaining a regular and smooth supply of oxygen in hospitals, and giving more speed to training. He said that medical training should also be done for students of medical education and doctors like AYUSH. He directed to increase the number of L-1, L-2, and L-3 hospitals and said that an additional CHC should be prepared as an L-1 hospital in each district. An officer should be nominated to ensure this work in a time-bound manner. The Chief Minister directed that special attention should be paid to social distancing while ensuring 100% adherence to the lockdown. Patrolling should be increased. Action should be continued against illegal liquor. He said that complete care and vigilance should be taken in view of Ramadan. Keep an eye on social media. He instructed to make Mandalayuk Basti, Inspector General of Police, and a senior officer of the Health Department as nodal officers in view of an increased sensitivity of district Santakbirnagar in view of infection. The Chief Minister said that testing people connected with supply chain should be done. It should be ensured that social distancing is adopted in the Quarantine Center and Shelter Home. After completing the quarantine period in the shelter home, the workers going home for home quarantine should be given ration kits and a maintenance allowance of one thousand rupees. The Chief Minister directed the officers to keep getting continuous information about the progress of works being done at the district level. He said that officers should be nominated for different tasks at the district level so that the operations can be conducted smoothly and the accountability of the people responsible for them can be fixed. The Chief Minister said that the State Government has constituted a committee to provide employment opportunities to the migrant workers. Providing employment to migrant laborers is a challenging task, which can be successfully implemented by preparing an action plan. He said that work related to pond and check dam etc. should be started. Migrant laborers should also be engaged in these works. The Chief Minister brought back the workers, workers, and laborers of Uttar Pradesh who have completed 14 days of quarantine in other states in a phased manner Discussed in relation to He instructed to build a large number of shelter homes and said that the public address system should be installed in them, food and toilet should be made smooth. He instructed the community kitchen to be made more effective. The Chief Minister directed that if there is any possibility of spreading infection from the operation of any industry, then it should not be allowed to operate. He said that the operation of MSME should be encouraged because there is no possibility of increasing infection through them. Supply chains should be created for the supply of raw materials to the industries of this sector. He also instructed the Principal Secretary MSME to increase the supply of PPE kits. The Chief Minister directed that the Agriculture Department should give wide publicity that there is no shortage of agricultural equipment in the state. Farmers take their produce to the purchasing center by harvesting it on time. An adequate number of purchasing centers have been established in the state. He directed that it should be ensured that crowds do not gather at the mandis and purchasing centers and social distancing is effectively implemented. On this occasion, the Chief Minister was informed that so far more than 50 lakh quintals of wheat have been procured through mandis and purchasing centers. On this occasion, Chief Secretary Shri RK Tiwari, Commissioner of Agricultural Production Shri Alok Sinha, Commissioner of Infrastructure and Industrial Development Shri Alok Tandon, Additional Chief Secretary Information and Home Shri Avnish Kumar Awasthi, Additional Chief Secretary State Smt. Renuka Kumar, Director General of Police Shri Hitesh C. Awasthi, Principal Secretary Medical Education Dr. Rajneesh Dubey, Principal Secretary Health Mr. Amit Mohan Prasad, Principal Secretary Chief Re Mr. SP Goel and Mr. Sanjay Prasad, Principal Secretary MSME Mr. Navneet Sehgal, Principal Secretary Rural Development and Panchayati Raj Mr. Manoj Kumar Singh, Principal Secretary Manure and Logistics Mrs. Nivedita Shukla Verma, Principal Secretary Agriculture Dr. Devesh Chaturvedi, Principal Secretary Animal Husbandry Mr. Bhuvanesh Kumar, Information Director Mr. Shishir and other senior officials were present. 



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Pages