Breaking News

शुक्रवार, 24 अप्रैल 2020

मुख्यमंत्री योगी ने कोविड-19 को नियंत्रित करने के लिए लाॅकडाउन के सफल क्रियान्वयन पर बल दिया CM Yogi emphasized the successful implementation of the lockdown to control Covid-19

मुख्यमंत्री योगी ने कोविड-19 को नियंत्रित करने के लिए लाॅकडाउन के सफल क्रियान्वयन पर बल दिया   CM Yogi emphasized the successful implementation of the lockdown to control Covid-19   संवाददाता, Journalist Anil Prabhakar.                 www.upviral24.in

मुख्यमंत्री योगी ने कोविड-19 को नियंत्रित करने के लिए लाॅकडाउन के सफल क्रियान्वयन पर बल दिया   CM Yogi emphasized the successful implementation of the lockdown to control Covid-19   संवाददाता, Journalist Anil Prabhakar.                 www.upviral24.in

मुख्यमंत्री योगी ने कोविड-19 को नियंत्रित करने के लिए लाॅकडाउन के सफल क्रियान्वयन पर बल दिया   CM Yogi emphasized the successful implementation of the lockdown to control Covid-19   संवाददाता, Journalist Anil Prabhakar.                 www.upviral24.in

मुख्यमंत्री योगी ने कोविड-19 को नियंत्रित करने के लिए लाॅकडाउन के सफल क्रियान्वयन पर बल दिया   CM Yogi emphasized the successful implementation of the lockdown to control Covid-19   संवाददाता, Journalist Anil Prabhakar.                 www.upviral24.in

उ0प्र0 मुख्यमंत्री ने कोविड - 19 को नियंत्रित करने के लिए लॉकडाउन के सफल क्रियान्वयन पर बल दिया सोशल डिस्टेंसिंग को प्रत्येक दशा में बनाए रखने के निर्देश हॉटस्पॉट का यू0पी0 मॉडल काफी लोकप्रिय उत्तर प्रदेश अन्य राज्यों में 14 दिन का क्वारंटीन पूरा कर चुके अपने श्रमिक एवं मजदूरों को चरणबद्ध तरीके से वापस लाएगा , इसके लिए कार्य योजना तैयार करने के निर्देश 20 या उससे अधिक कोरोना पॉजिटिव केस वाले जनपदों के लिए नामित वरिष्ठ प्रशासनिक , स्वास्थ्य तथा पुलिस अधिकारी संक्रमण के प्रसार को नियंत्रित करने की कार्रवाई अपनी देख - रेख में सम्पन्न कराए प्रत्येक जनपद में कोविड तथा नॉन - कोविड अस्पताल चिन्हित किये जाएं टेलीमेडिसिन के द्वारा टेली कंसल्टेन्सी प्रदान करने के इच्छुक डॉक्टरों की फोन नम्बर युक्त सूची का व्यापक प्रचार - प्रसार भी कराया जाए पूल टेस्टिंग को बढ़ाने तथा एल - 1 , एल - 2 तथा एल - 3 चिकित्सालयों में बेड्स की संख्या में वृद्धि के निर्देश लखनऊ : 24 अप्रैल , 2020 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कोविड - 19 के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए लॉकडाउन के सफल क्रियान्वयन पर बल दिया है । उन्होंने कहा कि भारत सरकार द्वारा कोरोना वायरस को नियंत्रित करने के उद्देश्य से लागू किये गये लॉकडाउन के निर्णय की विश्व में सराहना हो रही है । उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग को प्रत्येक दशा में बनाए रखने के निर्देश भी दिये मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने आवास पर आहूत बैठकों में कोरोना वायरस के नियंत्रण तथा लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे । उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना प्रभावित क्षेत्रों को हॉटस्पॉट के रूप में चिन्हित करते हुए संक्रमण से बचाव के लिए अपनायी जा रही रणनीति अत्यन्त प्रभावी सिद्ध हो रही है । हॉटस्पॉट का यह यू०पी० मॉडल ' काफी लोकप्रिय हुआ है । यह निरन्तर सुनिश्चित किया जाए कि हॉटस्पॉट क्षेत्रों में केवल मेडिकल , सेनिटेशन तथा होम डिलीवरी टीमें ही जाएं । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि उत्तर प्रदेश अन्य राज्यों में 14 दिन का क्वारंटीन पूरा कर चुके अपने प्रदेश के श्रम को , कामगारों तथा मजदूरों को चरणबद्ध तरीके से वापस लाएगा । इसके लिए एक कार्य योजना तैयार करने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में सूची तैयार की जाए , जिसमें सम्बन्धित राज्य में स्थित प्रदेश के मजदूरों का विवरण दर्ज हो । ऐसे लोगों की स्क्रीनिंग व टेस्टिंग कराते हुए सम्बन्धित राज्य सरकार को इन्हें वापस भेजने की प्रक्रिया प्रारम्भ करनी होगी । प्रदेश की सीमा तक सम्बन्धित राज्य सरकार द्वारा इन्हें लाये जाने के बाद ऐसे लोगों को बस के द्वारा इनके जिले में भेजा जाएगा । यह लोग जिस जनपद में जाएंगे , वहां 14 दिन क्वारंटीन करने के लिए पूरी व्यवस्थाएं समय से सुनिश्चित कर ली जाएं । इसके लिए शेल्टर होम / आश्रय स्थल को खाली कर सेनेटाइज किया जाए । शेल्टर होम पर कम्युनिटी किचन के सुचारू संचालन के लिए सभी प्रबन्ध सुनिश्चित किये जाएं , ताकि इन लोगों के लिए ताजे व भरपेट भोजन की व्यवस्था हो सके । 14 दिन की संस्थागत क्वारंटीन पूरी करने वालों को राशन की किट व एक हजार रुपये के भरण - पोषण भत्ते के साथ होम क्वारंटीन के लिए घर भेजने की व्यवस्था की जाए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश सरकार ने 20 या उससे अधिक कोरोना पॉजिटिव केस वाले जनपदों में वरिष्ठ प्रशासनिक , स्वास्थ्य तथा पुलिस अधिकारी भेजने का निर्णय लिया है । यह अधिकारी नामित जनपद में एक सप्ताह कैम्प कर संक्रमण के प्रसार को नियंत्रित करने की कार्रवाई अपनी देख - रेख में सम्पन्न कराएं । मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि मेडिकल इन्फेक्शन को हर हाल में रोका जाना आवश्यक है । उन्होंने अस्पतालों में पी0पी0ई0 , एन - 95 मास्क , सेनिटाइजर की पर्याप्त उपलब्धता सहित सभी सुरक्षा प्रबन्धों को लागू करने के निर्देश दिये हैं । उन्होंने कहा कि प्रत्येक जनपद में कोविड तथा नॉन - कोविड अस्पताल चिन्हित किये जाएं । यह सुनिश्चित किया जाए कि कोरोना के मरीज उपचार के लिए केवल कोविड अस्पताल में ही भर्ती किये जाएं । इसी प्रकार अन्य रोगों के उपचार के लिए मरीज को नॉन - कोविड अस्पताल में भर्ती किया जाए । मेडिकल स्टॉफ को संक्रमण से बचाव के लिए प्रशिक्षित करने तथा चिकित्सालय में  संक्रमण से सुरक्षा के सभी उपाय अपनाते हुए इमरजेन्सी सेवाएं प्रारम्भ की जाएं . जिससे लोगों को अन्य गम्भीर रोगों के त्वरित उपचार की सुविधा मिल सके । एल - 3 कोविड चिकित्सालयों में हर बेड पर वेंटिलेटर अवश्य हो । मुख्यमंत्री जी ने पूल टेस्टिंग को बढ़ाने तथा एल - 1 , एल - 2 तथा एल - 3 चिकित्सालयों में बेड्स की संख्या में वृद्धि के निर्देश दिये । उन्होंने कहा कि ट्रेनिंग पर भी फोकस करने की आवश्यकता है । उन्होंने कहा कि एल - 2 चिकित्सालय में प्रत्येक बेड पर ऑक्सीजन तथा हर 10 बेड पर एक वेंटिलेटर उपलब्ध रहना चाहिए । एल - 1 चिकित्सालय में प्रत्येक 5 बेड पर एक ऑक्सीजन सिलिण्डर सुनिश्चित किया जाना चाहिए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि जनपद स्तर पर प्रशासन , पलिस तथा मेडिकल की टीम आपसी समन्वय स्थापित करते हुए कार्य करें । कोरोना वायरस की चुनौती से निपटने के लिए टीम भावना के साथ कार्य करना आवश्यक है । जिला स्तर पर साफ - सफाई , आवश्यक सामग्री की आपूर्ति , लॉजिस्टिक , संस्थागत क्वारंटीन में रखे गये लोगों के ठहरने व भोजन आदि की जिम्मेदारी सहित विभिन्न कार्य अलग - अलग अधिकारी को सौंपते हुए अच्छी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वर्तमान परिस्थितियों में टेलीमेडिसिन के माध्यम से आमजन को सुगमतापूर्वक चिकित्सीय परामर्श प्रदान किया जा सकता है । इसके दृष्टिगत प्रत्येक जिलाधिकारी तथा मुख्य चिकित्साधिकारी अपने जनपद के सरकारी व निजी चिकित्सकों की बैठक कर उनसे इस सुविधा से जुड़ने का आग्रह करें । टेलीमेडिसिन के द्वारा टेली कंसल्टेन्सी प्रदान करने के इच्छुक डॉक्टरों की फोन नम्बर युक्त सूची का व्यापक प्रचार - प्रसार भी कराया जाए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश में कोई भूखा न रहे इसके लिए कम्युनिटी किचन के संचालन के साथ - साथ जरुरतमन्दों को खाद्यान्न वितरित किया जा रहा है । उन्होंने कम्युनिटी किचन की सराहना करते हुए इस व्यवस्था को और सुदृढ़ करने के निर्देश दिये । उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार आगामी माह भी निःशुल्क खाद्यान्न वितरित करने जा रही है । उन्होंने बैंकों में सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखे जाने पर बल दिया । 

Uttar Pradesh Chief Minister emphasized on the successful implementation of lockdown to control Covid-19. Directive to maintain social distancing in every case. UP model of the hotspot is very popular. To prepare the action plan for this step in 20 or more Corona positive Nominated Senior Administrative, Health and Police Officers for Districts to be administered to control the spread of infection. Under their supervision, Covid and Non-Covid Hospitals should be identified in each district. The list containing the phone number should be widely disseminated. - Instructions for increasing the number of beds in 1, L - 2, and L - 3 hospitals Lucknow: April 24, 2020, Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath Ji emphasized the successful implementation of lockdown to control infection of Covid-19 is. He said that the decision of the lockdown implemented by the Government of India for the purpose of controlling the coronavirus is being appreciated in the world. He also instructed to maintain social distancing in every case, the Chief Minister was reviewing the control and lockdown system of Coronavirus in the meetings convened at his residence here today. He said that by identifying the corona affected areas as hotspots, the strategy being adopted to prevent infection is proving to be very effective. This UP model of the hotspot has become quite popular. It should be ensured that only medical, sanitation and home delivery teams visit the hotspot areas. The Chief Minister said that Uttar Pradesh will bring back the amiras, workers, and laborers of its state who have completed the 14-day quarantine in other states in a phased manner. Instructing to prepare an action plan for this, he said that a list should be prepared in this regard, in which the details of the laborers of the state located in the respective state should be recorded. By screening and testing such people, the concerned state government will have to start the process of sending them back. After bringing them to the state limits by the concerned state government, such people will be sent to their district by bus. In the district where these people will go, complete arrangements should be made in time to quarantine 14 days. For this, the shelter home/shelter site should be emptied and sanitized. All arrangements should be ensured for the smooth functioning of the community kitchen at the shelter home so that fresh and filling food can be arranged for these people. Arrangements should be made to send the 14-day institutional quarantine home for home quarantine with a ration kit and maintenance allowance of one thousand rupees. The Chief Minister said that the State Government has decided to send senior administrative, health, and police officers to districts with 20 or more Corona positive cases. This officer should camp a week in the designated district and complete the operation to control the spread of infection under his supervision. The Chief Minister has said that it is necessary to prevent medical infection. He has instructed to implement all the safety arrangements including adequate availability of PPE, N-95 mask, sanitizer in hospitals. He said that Covid and non-Covid hospitals should be identified in every district. It should be ensured that Corona patients are admitted only to Covid Hospital for treatment. Similarly, for the treatment of other diseases, the patient should be admitted to a non-Covid hospital. To train medical staff to prevent infection and in the hospital Emergency services should be started by adopting all measures to protect against infection. So that people can get quick treatment of other serious diseases. Every bed in L-3 Covid hospitals must have a ventilator. The Chief Minister instructed to increase pool testing and increase the number of beds in L-1, L-2, and L-3 hospitals. He said that there is a need to focus on training as well. He said that oxygen should be available in every bed in L-2 hospital and one ventilator on every 10 beds. One oxygen cylinder should be ensured in every 5 beds in L-1 hospital. The Chief Minister said that at the district level, the administration, police, and medical teams should work in coordination. Working with team spirit is necessary to overcome the challenge of the coronavirus. Good arrangements should be ensured at the district level by handing over various tasks to different officers, including the responsibility of cleanliness, the supply of essential materials, logistics, stay and food, etc. of those kept in institutional quarantines. The Chief Minister said that under the present circumstances, medical advice can be provided to the common man through telemedicine. In view of this, every District Magistrate and Chief Medical Officer should meet government and private doctors of their district and urge them to join this facility. Telemedicine should also be widely disseminated with a list containing the phone numbers of doctors wishing to provide tele-consultancy. The Chief Minister said that food grains are being distributed to the needy along with the operation of community kitchens so that there is no starvation in the state. Appreciating the community kitchen, he instructed us to strengthen this system further. He said that the state government is going to distribute food grains for the next month also. He emphasized on maintaining social distancing in banks.


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Pages