Breaking News

बुधवार, 22 अप्रैल 2020

उ0प्र0: लॉकडाउन का मतलब टोटल लॉकडाउन -मुख्यमंत्री योगी UP Lockdown means Total Lockdown - Chief Minister Yogi

लॉकडाउन का मतलब टोटल लॉकडाउन -मुख्यमंत्री योगी    Lockdown means Total Lockdown - Chief Minister Yogi     संवाददाता, Journalist Anil Prabhakar.                 www.upviral24.in
लॉक डाउन का मतलब टोटल लॉक डाउन : मुख्यमंत्री 
समस्त गतिविधियों में प्रत्येक दशा में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित कराया जाए लॉक डाउन अवधि में आवश्यक सामग्री की सुचारु आपूर्ति बाधित नहीं होनी चाहिए किसी भी व्यक्ति को खाद्यान्न का अभाव न हो जांच कार्य में तेजी लाने के लिए अधिक से अधिक मेडिकल टेक्नीशियनों की ट्रेनिंग कराई जाए . जांच प्रयोगशालाओं के उपकरणों को दुरुस्त रखा जाए संक्रमण प्रभावित 10 जनपद कोरोना मुक्त अप्रभावित जनपदों में औद्योगिक इकाइयों का संचालन कराया जाए अब तक 77 प्रतिशत फसल की कटाई लम्बे समय के बाद पहली बार गन्ना व गेहूं  की कटाई में श्रमिकों की उपलब्धता की कोई दिक्कत नहीं अब तक 30 लाख कुन्टल से अधिक गेहूं की खरीद , लगभग 62 प्रतिशत खरीददारी किसानों के डोर स्टेप पर रमज़ान में सहरी व इफ्तार के समय किसी भी प्रकार से भीड़ एकत्र न होने पाए मुख्यमंत्री ने लॉक डाउन व्यवस्था की समीक्षा की लखनऊ : 22 अप्रैल , 2020 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि लॉक डाउन का मतलब टोटल लॉक डाउन है । इसलिए लॉक डाउन का सख्ती से शत - प्रतिशत पालन सुनिश्चित कराया जाए । लॉक डाउन का उल्लंघन अथवा दुरुपयोग करने वालों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की जाए । उन्होंने समस्त गतिविधियों में प्रत्येक दशा में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं ।
मुख्यमंत्री जी आज यहां लोक भवन में आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में लॉक डाउन व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे । उन्होंने निर्देश दिए कि लॉक डाउन अवधि में आवश्यक सामग्नी की सुचारु आपूर्ति बाधित नहीं होनी चाहिए । किसी को भी सप्लाई चेन व्यवस्था के दुरुपयोग की अनुमति नहीं है । उन्होंने कहा कि सप्लाई चेन में लगे लोगों की भी मेडिकल जांच होनी चाहिए । उन्होंने जिला प्रशासन के अधिकारियों को संस्थाओं द्वारा कम्युनिटी किचन में उपलब्ध कराये जा रहे भोजन की जांच के निर्देश भी दिए । टेस्टिंग क्षमता को तेजी से बढ़ाये जाने पर बल देते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रत्येक मण्डल मुख्यालय पर एक टेस्टिंग लैब स्थापित की जाए जिससे अधिक संख्या में टेस्टिंग सम्भव हो सके । अलीगढ़ , सहारनपुर तथा मुरादाबाद संक्रमण की दृष्टि से संवेदनशील हैं । इसलिए इनके मण्डलीय चिकित्सालय में टेस्टिंग लैब स्थापित की जाए । जांच कार्य में तेजी लाने के लिए अधिक से अधिक मेडिकल टेक्नीशियनों की ट्रेनिंग कराई जाए । जांच प्रयोगशालाओं के उपकरणों को दुरुस्त रखा जाए । बैठक में मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि अभी तक संक्रमण प्रभावित 10 जनपद कोरोना मुक्त हो चुके हैं । 22 जिले पहले से ही कोरोना मुक्त हैं । इस प्रकार वर्तमान में प्रदेश के कुल 32 जनपद कोरोना वायरस के संक्रमण से मुक्त हैं । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोरोना संक्रमण से मुक्त जनपदों में भी पूरी सतर्कता एवं सभी सावधानियां बरतना आवश्यक है । यह सुनिश्चित किया जाए कि किसी भी दशा में सुरक्षा चक्र टूटने न पाये । मुख्यमंत्री जी ने सभी पेन्डिंग सेम्पल की शीघ्र जांच कराने तथा संक्रमण से सुरक्षा सम्बन्धी मानकों व दिशा - निर्देशों का पालन न कर मेडिकल इन्फेक्शन फैलाने वाले निजी चिकित्सालयों को सील कर कार्यवाही करने के निर्देश दिए । उन्होंने कहा कि निजी अस्पतालों तथा मेडिकल कॉलेजों द्वारा संक्रमण से सुरक्षा के लिए अपनायी जा रही व्यवस्था का पर्यवेक्षण प्रदेश सरकार के एक मेडिकल ऑफिसर द्वारा किया जाना चाहिए । उन्होंने कहा कि मेडिकल इन्फेक्शन से बचाव के लिए विशेष सावधानी बरतना आवश्यक है । मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिए कि प्रत्येक आइसोलेशन बेड पर रोगी के लिए ऑक्सीजन की व्यवस्था अनिवार्य रूप से होने चाहिए । प्रत्येक 10 बेड पर  वेंटीलेटर की सुविधा उपलब्ध होनी चाहिए । एल - 1 , एल - 2 तथा एल - 3 श्रेणी के अस्पतालों में चिकित्सा उपकरणों व अन्य संसाधनों की व्यवस्था तथा टेस्टिंग लैब की स्थापना के उद्देश्य से प्रदेश सरकार द्वारा ' मुख्यमंत्री का पीड़ित सहायता कोण - कोविड केयर फण्ड ' बनाया गया है । फण्ड में उपलब्ध धनराशि से चिकित्सा उपकरण आदि की व्यवस्था प्राथमिकता पर सुनिश्चित की जाए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि भारत सरकार के दिशा - निर्देशों तथा शासन के नियमों का पालन करते हुए कोरोना से अप्रभावित जनपदों में औद्योगिक इकाइयों का संचालन कराया जाए । परियोजनाओं के उपयोगार्थ विभिन्न प्रकार की निर्माण सामग्नी के आवागमन की अनुमति दी जाए । इसके तहत भट्ठों से ईंट तथा बालू , मोरंग तथा सरिया को अनुमति दी जाए । निर्यातपरक इकाइयों से निर्यात हेतु कन्टेनर के माध्यम से इनके उत्पाद का आवागमन भी मंजूर किया जाए । विभिन्न राज्यों से प्रदेश में वापस आए श्रमिकों का सर्वे कराते हुए उन्हें रोजगार सुलभ कराने की प्रभावी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए । अधिकारियों द्वारा मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि प्रदेश में 12 हजार ईंट भट्ठों में 12 से 15 लाख श्रमिक कार्यरत हैं । 07 हजार औद्योगिक इकाइयों में लगभग 1 . 25 लाख लोग काम कर रहे हैं । 119 चीनी मिलों में लगभग 60 हजार मजदूरों को काम मिला है । मनरेगा के श्रमिकों को कार्य मिला है । लम्बे समय के बाद पहली बार गन्ना व गेहूं की कटाई में श्रमिकों की उपलब्धता के सम्बन्ध में कोई दिक्कत नहीं है । मुख्यमंत्री जी ने खाद्यान्न वितरण की प्रगति की जानकारी प्राप्त की । उन्होंने निर्देश दिए कि यह सुनिश्चित किया जाए कि किसी भी व्यक्ति को खाद्यान्न का अभाव न हो । मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि 3 . 5 करोड़ राशन कार्ड के सापेक्ष अब तक 3 . 06 करोड़ राशन कार्ड पर खाद्यान्न वितरित हो गया है । साथ ही , 2 . 5 लाख नये राशन कार्ड बनाते हुए खाद्यान्न उपलब्ध कराया गया । मुख्यमंत्री जी ने रबी फसल की कटाई तथा गेहूं खरीद की समीक्षा की । उन्होंने निर्देश दिए कि किसानों को अपनी उपज के विक्रय में कोई असुविधा न हो । सुनिश्चित किया जाए कि किसानों को उपज का न्यूनतम समर्थन मूल्य प्राप्त हो । प्रमुख सचिव कृषि ने मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया कि अब तक 77 प्रतिशत फसल की कटाई हो गयी है । अब तक मण्डियों व क्रय केन्द्रों के माध्यम से 30 लाख कुन्टल से अधिक गेहूं की खरीद हो चुकी है । इसमें से लगभग 62 प्रतिशत खरीददारी किसानों के डोर स्टेप पर हुई है । ऐसा प्रदेश में पहली बार हुआ है । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि लॉक डाउन के कारण अन्य राज्यों के प्रदेश में फंसे लोगों को यदि उनके गृह राज्य की सरकार वापस बुलाने का निर्णय लेगी तो प्रदेश सरकार इसकी अनुमति प्रदान करते हुए ऐसे लोगों को वापस भेजने में सहयोग प्रदान करेगी । उन्होंने कहा कि रमजान का महीना प्रारम्भ हो रहा है । इस अवधि में विशेष सावधानी बरती जाए । यह सुनिश्चित किया जाए कि सहरी व इफ्तार के समय किसी भी प्रकार से भीड़ एकत्र न होने पाए । मुख्यमंत्री जी ने कहा कि शेल्टर होम्स से घर भेजे गए लोगों तथा कोटा से प्रदेश वापस लौटे बच्चों को होम क्वारंटीन का पालन करने के लिए मुख्यमंत्री हेल्पलाइन 1076 के माध्यम से अवगत कराया जाए । उन्होंने बताया कि एक दिन वे स्वयं कोटा से प्रदेश वापस आए बच्चों से बात कर इनकी कुशलक्षेम प्राप्त करेंगे । उन्होंने सचिवालय कर्मियों को एक - एक छोटा सेनिटाइजर उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए । इस अवसर पर मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी , कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा , अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन , अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी , अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव कुमार मित्तल , अपर मुख्य सचिव राजस्व श्रीमती रेणुका कुमार , पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी , प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा डॉ० रजनीश दुबे , प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद , प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री एस०पी० गोयल एवं श्री संजय प्रसाद , प्रमुख सचिव औद्योगिक विकास श्री आलोक कुमार , प्रमुख सचिव एम०एस०एम०ई० श्री नवनीत सहगल , प्रमुख सचिव कृषि डॉ देवेश चतुर्वेदी , सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे ।

Lock Down means Total Lock Down: Chief Minister
Ensure adherence to social distancing in all conditions in all activities. A smooth supply of essential materials should not be interrupted during the lockdown period. No person should be short of food grains. To get more medical technicians trained to speed up the investigation. Go The equipment of the testing laboratories should be maintained. Industrial units should be made operational in the 10 uninfected districts affected by the infection. Up to 30 lakh quintals of wheat were procured, about 62 percent of the purchases were made at the doorstep of farmers at the time of Sahri and Iftar in Ramadan. The Chief Minister reviewed the lock-down system in a way that the crowd could not gather, Lucknow: April 22, 2020, Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath Ji said that lock-down means total lock-down. Therefore, a strict 100% adherence to lockdown should be ensured. Stringent action should be taken against those who violate or misuse the lockdown. He has given instructions to ensure social distancing in every situation in all activities.
The Chief Minister was reviewing the lock-down system at a high-level meeting convened at Lok Bhawan here today. He directed that the smooth supply of essential materials should not be interrupted during the lockdown period. No one is allowed to misuse the supply chain system. He said that people engaged in the supply chain should also undergo a medical examination. He also instructed the officers of the district administration to check the food being provided by the institutions in the community kitchen. Emphasizing that the testing capacity should be increased rapidly, the Chief Minister said that a testing lab should be set up at each Circle Headquarters so that more number of testing can be done. Aligarh, Saharanpur, and Moradabad are susceptible to infection. Therefore, a testing lab should be set up in their regional hospital. To speed up the investigation, more and more medical technicians should be trained. Instruments of testing laboratories should be maintained properly. At the meeting, the Chief Minister was informed that 10 district-affected corona have been freed so far. 22 districts are already corona free. Thus, at present, 32 districts of the state are free from coronavirus infection. The Chief Minister said that it is necessary to take full vigilance and all precautions even in districts free of corona infection. It should be ensured that the safety cycle does not break in any case. The Chief Minister instructed to conduct an early investigation of all pending samples and to take action by sealing private hospitals that spread medical infections after not following the standards and guidelines related to infection safety. He said that the system being adopted by private hospitals and medical colleges for protection from infection should be supervised by a medical officer of the state government. He said that special precautions are necessary to avoid medical infection. The Chief Minister directed that oxygen should be made mandatory for the patient at each isolation bed. 2 on every 10 beds  Ventilator facilities should be available. The 'Chief Minister's Victim Assistance Angle - covid Care Fund' has been created by the state government for the purpose of arranging medical equipment and other resources in L-1, L-2, and L-3 category hospitals and setting up testing labs. Arrangement of medical equipment etc. should be ensured on priority from the funds available in the fund. The Chief Minister said that following the guidelines of the Government of India and the rules of governance, industrial units should be made operational in districts unaffected by Corona. The traffic of different types of construction materials should be allowed for the use of projects. Under this, brick and sand, Morang, and saria should be allowed from the kilns. The movement of their products through the container for export from export-oriented units should also be approved. The Survey of workers returned to the state from various states should be done to ensure an effective system of providing employment to them. Officials informed the Chief Minister that 12 to 15 lakh workers are employed in 12 thousand brick kilns in the state. About 1 in 07 thousand industrial units. 2.5 million people are working. About 60 thousand laborers have been employed in 119 sugar mills. MNREGA workers have got work. For the first time after a long time, there is no problem in relation to the availability of workers in the harvesting of sugarcane and wheat. The Chief Minister received information about the progress of the distribution of food grains. He directed that it should be ensured that no person lacks food grains. Chief Minister was informed that 3. 3 so far against 5 crore ration cards. Foodgrains have been distributed on 06 crore ration cards. Also, 2. Foodgrains were made available by making 5 lakh new ration cards. The Chief Minister reviewed the rabi crop harvesting and wheat procurement. He instructed that farmers should not have any inconvenience in selling their produce. It should be ensured that farmers get the minimum support price of the produce. Principal Secretary Agriculture informed the Chief Minister that so far 77 percent of the crop has been harvested. So far, more than 30 lakh quintals of wheat have been procured through mandis and purchasing centers. Out of this, about 62 percent of the purchases have been done at the doorstep of the farmers. This has happened for the first time in the state. The Chief Minister said that if the government of his home state decides to call back the people stranded in the state of other states due to the lock-down, then the state government will provide support to send such people back. He said that the month of Ramadan is beginning. Special care should be taken during this period. It should be ensured that the crowd does not get collected in any way at the time of Sahri and Iftar. The Chief Minister said that the people sent home from the shelter homes and the children returned to the state from Kota should be apprised through the Chief Minister Helpline 1076 to follow the home quarantine. He told me that one day, he himself will talk to the children who have come back from Kota to get their skills. He also directed to provide one small sanitizer to the secretariat personnel. On this occasion, Chief Secretary Mr. RK Tiwari, Agriculture Production Commissioner Mr. Alok Sinha, Infrastructure and Industrial Development Commissioner Mr. Alok Tandon, Additional Chief Secretary Information and Home Mr. Avnish Kumar Awasthi, Additional Chief Secretary Finance Mr. Sanjeev Kumar Mittal, Additional Chief Secretary Revenue Smt. Renuka Kumar, Director General of Police Mr. Hitesh C. Awasthi, Principal Secretary Medical Education Dr. Rajneesh Dubey, Principal Secretary Health If Mr. Amit Mohan Prasad, Principal Secretary to Chief Minister S 0 p 0 Goyal and Mr. Sanjay Prasad, Principal Secretary Industrial Development Mr. Alok Kumar, Principal Secretary MSME  Mr. Navneet Sehgal, Principal Secretary Agriculture Dr. Devesh Chaturvedi, Director Information other senior officials, including Mr. Shishir.


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Pages